Breaking News
Home » International » UNHRC में पाक विदेश मंत्री कुरैशी ने अलापा कश्मीर का राग

UNHRC में पाक विदेश मंत्री कुरैशी ने अलापा कश्मीर का राग

Delhi :  जिनेवा स्थित यूएनएचआरसी में आज कश्मीर आधारित सेशन में भारत और पाकिस्तान दोनों अपने दावे पेश कर रहे हैं। दुनिया के हर मंच पर मुंह की खाने के बाद पाकिस्तान अब यूएनएचआरसी में झुठे आरोपों के जरिए भारत को घेरने को कोशिश कर रहा है। इससे पहले उसे यूएन, आईओसी सहित कई मंचों पर जबरदस्त हार का सामना करना पड़ा है। उसका साथ सिर्फ चीन ही दे रहा है।
जम्मू-कश्मीर की मौजूदा स्थिति को लेकर यूएनएचआरसी में भारत और पाक एक-दूसरे के तर्कों को खारिज करने का प्रयास करेंगे। पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार को लेकर भारत के खिलाफ प्रस्ताव लाने

संयुक्त राष्ट्र के मंच पर आमने-सामने होंगे मोदी और इमरान
27 सितंबर को पहले भारत फिर होगा पाक का संबोधन

के लिए पूरा जोर लगा रहा है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने दोपहर तीन बजे अपने देश का पक्ष रखा, वहीं भारत शाम सात बजे अपना पक्ष रखेगा।
कुरैशी का भारत पर आरोप
पाकिस्तानी विदेश मंत्री कुरैशी ने यूएनएचआरसी में पाकिस्तान का पक्ष रखा। कुरैशी ने आरोप लगाया कि जम्मू कश्मीर को जेल में तब्दील कर दिया गया है। लोगों को बुनियादी सुविधाओं से भी वंंचित रखा गया है। साथ ही उन्होंने मांग की कि कश्मीर में मानवाधिकार संगठनों और पत्रकारों का जाने की इजाजत दी जाए।
वर्ल्ड सिंधी कांग्रेस ने किया पाक का विरोध
संयुक्त राष्ट्र भवन के बाहर वर्ल्ड सिंधी कांग्रेस ने पाकिस्तान के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया, यहां यूएनएचआरसी के 42वें सत्र की बैठक हो रही है।

भारत भी रखेगा अपना पक्ष
पाकिस्तान के बाद भारत शाम सात बजे अपना पक्ष रखेगा। एक अधिकारी ने कहा कि भारतीय प्रतिनिधिमंडल पाक के कुछ घंटे बाद अपना बयान देगा और भारत के पास “जवाब का अधिकार” होगा। भारतीय पक्ष का नेतृत्व विदेश मंत्रालय के एक सचिव द्वारा किया जाएगा और इसमें अजय बिसारिया शामिल होंगे। बता दें कि अजय बिसारिया हाल ही में इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त थे, जिन्हें तनातनी के बीच पाकिस्तान ने वापस भेज दिया था।

यूएनएचआरसी में कुल 47 निर्वाचित सदस्य
मार्च 2006 में स्थापित हुए यूएनएचआरसी में कुल 47 निर्वाचित सदस्य देश हैं। भौगोलिक स्थिति को देखते हुए सदस्यों को पांच क्षेत्रीय समूहों में बांटा गया है। अफ्रीकन स्टेट्स में 13 सदस्य, एशिया-पैसिफिक में 13 सदस्य, ईस्टर्न यूरोपियन स्टेट्स में छह सदस्य, लैटिन अमेरिकन और कैरिबियन स्टेट्स में 8-8 सदस्य, जबकि वेस्टर्न यूरोपियन और अन्य स्टेट्स के लिए सात सीटें निर्धारित हैं।

नए सदस्य- बुर्किना फासो, कैमरून, इरिट्रिया, सोमालिया, और टोगो। सभी अफ्रीकन स्टेट्स।

ईस्टर्न यूरोपियन स्टेट्स ग्रुप- बुल्गारिया और चेक रिपब्लिक, जबकि लैटिन अमेरिकन-कैरिबियन स्टेट्स कैटिगरी में अर्जेंटीना, बहामास और उरुग्वे।

About dhamaka