Breaking News
Home » Main News » U.P. – स्वतंत्रता दिवस पर हाई अलर्ट, डीजीपी ने गाइडलाइन जारी कर दिए कड़ी सुरक्षा के निर्देश

U.P. – स्वतंत्रता दिवस पर हाई अलर्ट, डीजीपी ने गाइडलाइन जारी कर दिए कड़ी सुरक्षा के निर्देश

Spread News with other
LUCKNOW :  उत्तर प्रदेश में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर इस बार अतरिक्त सुरक्षा और सतर्कता के निर्देश दिए गए हैं। सभी जिलों के पुलिस कप्तान, रेलवे के एसपी को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन के बाद से सोशल मीडिया पर जिस तरह सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की लगातार साजिश की जा रही है, उसे देखते हुए डीजीपी मुख्यालय ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था को लेकर गाइडलाइन जारी की है। खासतौर से सभी संवेदनशील जिलों में खुफिया विभाग को हर एक गतिविधि पर पैनी नजर रखने को कहा

उत्तर प्रदेश में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर इस बार अतरिक्त सुरक्षा और सतर्कता के निर्देश दिए गए हैं।

गया है। डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने 14 अगस्त से ही प्रभावी चेकिंग के साथ ही सभी संवेदनशील जिलों में सुरक्षा के अतिरिक्त बंदोबस्त किए जाने की बात कही है।

उत्तर प्रदेश में स्वतंत्रता दिवस पर सभी पुलिस लाइन में ध्वजा रोहण के दौरान शारीरिक दूरी का पूरी सख्ती से अनुपालन कराने के निर्देश भी दिए गए हैं। पुलिस को सभी संवेदनशील क्षेत्रों में पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं। सूबे की सीमाओं पर कड़ी नजर रखने के साथ ही शरारती तत्वों के विरुद्ध समय रहते प्रभावी निरोधात्मक कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए गए हैं। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर विस्तृत गाइडलाइन भी तैयार की गई है। सोशल मीडिया की निगरानी में साइबर क्राइम सेल को लगाया गया है। आपित्तजनक व भ्रामक संदेशों पर नजर रखने के साथ ही उनका खंडन किए जाने की बात भी कही गई है। डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने कहा है कि सोशल मीडिया पर गड़बड़ी करने वालों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

स्वतंत्रता दिवस से पहले साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की साजिश का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा है। सोशल मीडिया पर विभिन्न वर्चुअल नंबर से रिकार्डेड कॉल और आपित्तजनक वीडियो वायरल करने का क्रम जारी है। कई वीडियो वायरल कर माहौल बिगाड़ने की साजिश की जा रही है। वर्चुअल नंबर के जरिए वॉट्सएप ग्रुप बनाकर भी लगातार जहर उगला जा रहा है। बीते चार दिनों से जहर उगला जा रहा है। उत्तर प्रदेश के अलावा दिल्ली, महाराष्ट्र व अन्य स्थानों पर भी आपित्तजनक ऑडिया व वीडियो वासरल किए जा रहे हैं। आइबी समेत अन्य केंद्रीय खुफिया एजेंसियां भी लगातार सक्रिय हैं। हालांकि अब तक खुफिया एजेंसियां व पुलिस शरारती तत्वों तक पहुंचने में नाकाम हैं।

खुफिया एजेंसियों के लिए चुनौती बने वर्चुअल नंबर : उत्तर प्रदेश में इससे पहले विधायकों को भी ऐसे ही वर्चुअल नंबर के जरिए वॉट्सएप पर धमकी भरे संदेश भेजे गए थे। तब जांच में सामने आया था कि पाकिस्तान से धमकी भरे संदेश भेजे जा रहे हैं, लेकिन पुलिस व जांच एजेंसियां कोई ठोस कार्रवाई नहीं कर सकी थीं। एक बार फिर यही आशंका है कि राम मंदिर के भूमि पूजन के बाद सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने की साजिश सीमा पार से की जा रही है। जिस तरह वर्चुअल नंबरों का इस्तेमाल किया जा रहा है, उससे पुलिस व जांच एजेंसियों की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं।

Yugvarta

About dhamaka