Breaking News
Home » Uncategorized » PM मोदी को 208 कुलपतियों-शिक्षाविदों ने भेजा पत्र, कहा- कैंपस को हिंसा में झोंक रहे वामपंथी

PM मोदी को 208 कुलपतियों-शिक्षाविदों ने भेजा पत्र, कहा- कैंपस को हिंसा में झोंक रहे वामपंथी

देश के 208 कुलपतियों और शिक्षाविदों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर विश्वविद्यालयों में छात्र राजनीति के नाम पर लेफ्ट प्रायोजित हिंसा का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि वामपंथी कार्यकर्ताओं की ओर से कैंपस को हिंसा की आग में झोंकने की कोशिश हो रही है। शिक्षाविदों ने यह पत्र 11 जनवरी को लिखा है। पत्र में कुल 208 कुलपतियों, प्रोफेसर, शिक्षाविदों के नाम हैं।

शिक्षाविदों के इस समूह ने प्रधानमंत्री मोदी से इस मुद्दे पर गहरी चिंता जताते हुए शैक्षणिक संस्थानों को अराजकता के माहौल से मुक्ति दिलाने की मांग की है। उन्होंने हालिया घटनाओं का हवाला देते हुए कहा कि जेएनयू, जामिया से लेकर जादवपुर विश्वविद्यालय में मुट्ठी भर वामपंथी कार्यकर्ताओं की ओर से कैंपस में अराजकता का माहौल पैदा कर शैक्षणिक गतिविधियां ठप की जा रही हैं।

शिक्षाविदों ने कहा कि विश्वविद्यालयों में वामपंथी कार्यकर्ताओं की अराजक गतिविधियों के कारण पठन-पाठन से लेकर विचारों के आदान-प्रदान के लिए तमाम तरह के कार्यक्रमों के आयोजन में बाधा पहुंच रही है। जिन कैंपस में वामपंथी संगठनों की पकड़ है, वहां पर विचारधारा थोपने की कोशिश हो रही है। कैंपस को निजी जागीर समझकर व्यक्तिगत स्वतंत्रता पर हमला हो रहा है। शिक्षण संस्थानों में शिक्षकों को भी सहिष्णुता का सामना करना पड़ रहा है।
वहीं जामिया में 15 दिसंबर को हुई तोड़फोड़ पर यूनिवर्सिटी की कुलपति नजमा अख्तर ने कहा कि मानवाधिकार आयोग की टीम 14 जनवरी को परिसर का दौरा करेगी। उन्होंने कहा कि 15 दिसंबर वाले मामले में टीम घायल छात्रों और गवाहों के बयान व सबूत लेगी। नजमा ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि टीम हमारे दृष्टिकोण से देखने की कोशिश करेगी।

About dhamaka