Breaking News
Home » National » Indian railways Track पर 10 दिन में दौड़ेंगी 2600 ट्रेनें, यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने का बीड़ा उठया ,

Indian railways Track पर 10 दिन में दौड़ेंगी 2600 ट्रेनें, यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने का बीड़ा उठया ,

रेलवे ने अगले 10 दिनों में 2600 ट्रेनें चलाने का फैसला लिया है. इन ट्रेनों के जरिए लगभग 36 लाख प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाया जाएगा. रेलवे ने ट्रेनें चलने से अब तक लगभग 50 लाख से अधिक लोगों को उनके घरों तक पहुंचाया है. ये जानकारी रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वीके यादव ने शनिवार को एक वार्ता के दौरान दी.इस मौके पर उन्होंने बताया कि सभी जिलों के जिलाधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वो जरूरत के मुताबिक भारतीय रेलवे के किसी भी स्टेशन से श्रमिक स्पेशल गाड़ियों की मांग करें, उन्हें ट्रेन दी जाएगी.

Indian Railways 'plans' privatisation amidst lackadaisical ...
Indian RailwayIrctc Booking Start दो महीने के लॉकडाउन के बाद भारतीय रेलवे द्वारा कुछ स्पेशल ट्रेने चलाई जा रही हैं. इन ट्रेनों की बुकिंग आज से ही शुरू हो रही हैं. आप आज से ही इन ट्रेनों में अपनी सीट आरक्षित करा सकते हैं. बुकिंग सुबह 10 बजे से शुरू हो जाएगी.
बुकिंग सिर्फ आईआरसीटीसी की वेबसाइट या ऐप से ही होगी. आरएसी और वेटिंग टिकट मिलेंगे, लेकिन अगर वेटिंग टिकट हुआ तो ट्रेन में घुसने की इजाज़त नहीं होगी. सबसे अहम ये भी है कि इस ट्रेन में एसी के साथ ही जनरल डिब्बे भी होंगे.
बता दें कि रेलवे द्वारा इससे पहले 15 रूटों पर ट्रेने चलाई गई थीं, लेकिन अब 200 ट्रेनों के संचालन को 1 जून से शुरू किया जाना है. इस बाबत रेलवे ने 200 ट्रेनों की सूची के अधिकारिक वेबसाइट पर जारी किया. बता दें कि इन ट्रेनों में प्रीमियम टिकट की सुविधा नहीं होगी.
ट्रेनों में सभी बोगियों के लिए रेलवे आरक्षित सेवा देगा. बिना आरक्षण के आप किसी भी डिब्बे में यात्रा नहीं कर सकते हैं. बता दें कि जनरल कोच के भी आरक्षित होने का कारण उसमें यात्रा करने वाले यात्रियों से सेकेंड स्लीपर का किराया वसूला जाएगा. इस दौरान जनरल बोगियों में लोगों को आरक्षित सीटों की सेवा दी जाएगी. बता दें कि सेकेंड स्लीपर का किराया स्लीपर से कुछ कम होता है. ऐसा रेलवे द्वारा इसलिए किया जा रहा है ताकि जनरल डब्बों में लोगों की भीड़ नियंत्रण में रहे.

बता दें कि इन यात्राओं से पहले हो सकते तो जिन राज्यों से आप ट्रेन से अपनी यात्रा शुरू करने वाले हैं. उन राज्य सरकार की एडवाइजरी को जरूर पढें. क्योंकि झारखंड से यात्रा करने वालों को स्टेशन पर 3 घंटे पहले बुलाया गया है. ऐसे ही कई राज्यों में कुछ कुछ नियमों में बदलाव भी किए गए हैं. बता दें कि रेलवे द्वारा चलाई जा रही ये 200 ट्रेने अप और डाउन दोनों की संख्या मिलाकर है.
भारतीय रेलवे के अनुसार, सभी यात्रियों की ट्रेन में यात्रा से पहले स्क्रीनिंग की जाएगी. बिना स्क्रीनिंग के कोई यात्रा नहीं कर पायेगा. रेलवे के अनुसार, इन 200 ट्रेन के अलावा जो स्पेशल ट्रेन चल रही हैं, वह चलती रहेंगी. इसके साथ ही रेलवे के अनुसार अगर कोरोना के लक्षण होंगे तो ट्रेन में यात्रा नहीं करने दी जाएगी.

ट्रेन में कम्बल नहीं दिए जाएंगे. लोगों को 90 मिनट पहले स्टेशन पर पहुंचना होगा. आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करना अनिवार्य होगा. मास्क लगता अनिवार्य होगा. बिना इसके स्टेशन में प्रवेश नहीं मिलेगा. साथ ही अब स्टेशनों पर आप खाने पीने के सामान अब दोबारा खरीद सकेंगे.

About dhamaka