Breaking News
Home » Main News » 74वें स्वतंत्रता दिवस :पड़ोसी सिर्फ वो ही नहीं हैं जिनसे हमारी भौगोलिक सीमाएं मिलती हैं बल्कि वे भी हैं जिनसे हमारे दिल मिलते हैं:प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

74वें स्वतंत्रता दिवस :पड़ोसी सिर्फ वो ही नहीं हैं जिनसे हमारी भौगोलिक सीमाएं मिलती हैं बल्कि वे भी हैं जिनसे हमारे दिल मिलते हैं:प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

Spread News with other

देश के 74वें स्वतंत्रता दिवस पर दुनियाभर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को शुभकामना संदेश मिल रहे हैं जिनका वह सोशल मीडिया के माध्यम से जवाब दे रहे हैं। मोदी को भूटान, नेपाल, श्रीलंका, मालदीव, आस्ट्रेलिया और इजरायल के शीर्ष नेताओं ने बधाई दी।

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अतुल्य भारत को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी जिसपर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उनका विशेष स्नेह स्पष्ट दिखाई देता है। भारत को इजरायल के साथ अपने मजबूत होते संबंधों पर गर्व है।

नेपाल के प्रधानमंत्री ने टेलीफोन कर प्रधानमंत्री मोदी को बधाई दी। वहीं मोदी ने दोनों देशों के बीच के सांस्कृतिक और सभ्यात्मक संबंधों को याद किया।

आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने ट्वीट कर दिए अपने बधाई संदेश में हिन्दी शब्दों भरोसा और सम्मान का प्रयोग कर कहा कि दोनों देशों के संबंध इन दो मूल्यों पर आधारित हैं। वहीं प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत-ऑस्ट्रेलिया की दोस्ती के बारे में प्रधानमंत्री मॉरिसन ने जो कहा, उससे वह पूरी तरह सहमत हैं। वह चाहते हैं कि यह दोस्ती आने वाले वर्षों में बढ़े और विश्व शांति और प्रगति में योगदान दे।

मालदीव के इब्राहिम मोहम्मद सोलिह ने कहा कि भाग्य के साथ अपनी कोशिश शुरू करने के 73 साल बाद भारत अपने लोकतांत्रिक मूल्यों और शांति व प्रगति में योगदान के लिए दुनियाभर में आशा की किरण बनकर उभरा है। उनका धन्यवाद देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत और मालदीव के बीच की दोस्ती हिंद महासागर क्षेत्र और एक स्वस्थ दुनिया के विकास में योगदान देती रहेगी।

श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने कहा कि इन चुनौतीपूर्ण समय में दोनों राष्ट्रों की आजादी और स्वतंत्रता को पोषित करना और भी अधिक महत्वपूर्ण है। वहीं श्रीलंका के प्रधानमंत्री महेन्द्रा राजपक्षे ने अपने बधाई संदेश में कहा कि भारत शांति और समृद्धि के साथ फलता फूलता रहे और दोनों देशों के बीच संबंध मजबूत होते रहें। प्रधानमंत्री ने दोनों नेताओं का इस बधाई संदेश के लिए धन्यवाद दिया है।

भूटान के प्रधानमंत्री लोटे तशरीर ने कहा कि महामारी का सामना कर रही दुनिया के बीच वह कामना करते हैं कि भारत आज के दिन से इसके खिलाफ लड़ाई के लिए शक्ति प्राप्त करे। साथ ही ऐसे समय में भारत की ओर से दी जा रही सहायता के लिए वह धन्यवाद भी देना चाहते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत और भूटान के बीच अद्वितीय और समय के उतार-चढ़ाव में मजबूत होते संबंधों के लिए वह नेपाल के राजा और भूटानी लोगों को धन्यवाद देते हैं।

इसी बीच चीन के भारत में राजदूत सन विडोंग ने स्वतंत्रता दिवस पर भारत सरकार और लोगों को बधाई देते हुए कहा कि वह चाहते हैं कि चीन और भारत प्राचीन सभ्यता वाले दो महान देश शांति के साथ प्रगति के मार्ग पर बढ़ें और उनके करीबी संबंध लगातार विकसित होते रहें।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज लालकिले से दिए अपने भाषण में कहा कि आज पड़ोसी सिर्फ वो ही नहीं हैं जिनसे हमारी भौगोलिक सीमाएं मिलती हैं बल्कि वे भी हैं जिनसे हमारे दिल मिलते हैं। जहां रिश्तों में समरसता होती है, मेल-जोल रहता है। उन्होंने कहा कि हमारे पड़ोसी देशों के साथ, चाहे वो हमसे ज़मीन से जुड़े हों या समंदर से, अपने संबंधों को हम सुरक्षा, विकास और विश्वास की साझेदारी के साथ जोड़ रहे हैं।

About dhamaka