Breaking News

Spread News with other

कोलकाता। इस बार स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पश्चिम बंगाल के 21 पुलिसकर्मियों को बेहतरीन सेवाओं के लिए राष्ट्रपति पदक दिया गया है। इसमें केवल एक आईपीएस अधिकारी हैं। उनका नाम शंखशुभ्र चक्रवर्ती है। वे राज्य पुलिस सेवा से प्रमोट होकर आईपीएस बने हैं। उल्लेखनीय है कि पिछले साल राज्य के सूचीबद्ध अधिकारियों की छवि ‘विवादास्पद’ होने के कारण पदक प्राप्तकर्ताओं की सूची से हटा दिया गया था।

सूत्रों के मुताबिक, इस बार राज्य सरकार ने छह आईपीएस अधिकारियों के नाम प्रस्तावित किए थे। गृह विभाग के एक अधिकारी के अनुसार, 2020 स्वतंत्रता दिवस पुलिस पदक के लिए भरतलाल मीना, राजेश कुमार यादव, तन्मय रॉयचौधरी, जयंत कुमार पाल, सुजीत कुमार सरकार और डीपी सिंह को नामित किया गया था।

उल्लेखनीय है कि हर साल गणतंत्र और स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रपति पुलिस कर्मियों को पुलिस पदक से सम्मानित करते हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा चयनित सूची में, पिछले सात वर्षों में बंगाल कैडर के किसी भी आईपीएस अधिकारी का नाम नहीं दिया गया है। राज्य ने 2019 गणतंत्र दिवस के पुलिस पदक के लिए वरिष्ठ आईपीएस अधिकारियों में राजेश कुमार, संजय सिंह, सरोज कुमार गजमेर, अजय टैगोर और कुछ अन्य को नामित किया था। गृह मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार, राज्य के सूचीबद्ध अधिकारियों को अंततः उनकी विवादास्पद इमेेज के कारण अंतिम सूची से हटा दिया गया था।

About dhamaka