Breaking News
Home » Main News » 15 August Independence Day 2020 : कोरोना काल में सरकार कैसे मनाएगी 15 अगस्त, गाइडलाइंस ये है

15 August Independence Day 2020 : कोरोना काल में सरकार कैसे मनाएगी 15 अगस्त, गाइडलाइंस ये है

Spread News with other

15 अगस्त, 1947. देश को आजादी मिली. इस साल 15 अगस्त को देश 74वां स्वतंत्रता दिवस मनाएगा. लेकिन कोरोना की वजह से इस साल माहौल अलग है. ऐसे में गृह मंत्रालय ने गाइडलाइंस जारी की हैं. कोरोना काल में 15 अगस्त को होने वाले कार्यक्रमों को लेकर.

15 August Independence Day 2020 major changes made in 74th ...

देश में गहराए कोरोना संकट के बीच हर तरफ स्वतंत्रता दिवस की धूम है. हर जगह बस इसी की तैयारी चल रही है. इस बार 15 अगस्त को देश 74वां स्वतंत्रता दिवस मनाएगा. हर बार की तरह इस बार भी दिल्ली में लाल किले पर ध्वजारोहण होगा लेकिन इस बार लाल किले का नजारा कुछ अलग होगा. वजह है कोविड19 महामारी का दौर. कोरोना से खौफ और उससे सतर्कता का आलम ये है कि छोटी छोटी बातों का भी ख़्याल रखा जा रहा है.

गुरुवार को ही लाल किले पर फ़ुल ड्रेस रिहर्सल आयोजित हुई. इस रिहर्सल में थल सेना, वायु सेना और नोसैना के जवानों ने हिस्सा लिया. कोरोना के ख़तरे को देखते हुए जवानों ने चेहरे पर मास्क पहने रखा. साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन किया गया. स्वतंत्रता दिवस से पहले राजधानी दिल्ली में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं.

गाइडलाइंस में बताया गया है कि स्वतंत्रता दिवस मनाते समय किस तरह की सावधानियां बरती जानी चाहिए. सबसे बेसिक और जरूरी चीज सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाए. मास्क पहनकर ही कोई कार्यक्रम हो. प्रॉपर तरीके से सेनिटाइजेशन की व्यवस्था हो. बड़ी भीड़ वाले कार्यक्रम करने से बचा जाए. कमजोर व्यक्तियों पर विशेष ध्यान दिया जाए. इसके अलावा कोरोना से बचाव से संबंधित सभी दिशा-निर्देशों का पालन किया जाए, जो समय-समय पर गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी किए गए हैं.

और क्या है गाइडलाइंस में?
इसमें कहा गया है कि बड़े कार्यक्रम करने से बचा जाए. तकनीक का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल हो. बड़े पैमाने पर लोगों तक इन कार्यक्रमों को पहुंचाने के लिए इवेंट web-cast किए जा सकते हैं. गाइडलाइन में कहा गया है कि ऊपर बताई गई सभी चीजों को ध्यान में रखते हुए दिल्ली में होने वाले स्वतंत्रता दिवस समारोह कैसा होगा.

1. लालकिले पर होने वाले कार्यक्रम में सशस्त्र बलों और दिल्ली पुलिस की ओर से प्रधानमंत्री को गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा. राष्ट्रीय ध्वज फहराना, प्रधानमंत्री का भाषण, पीएम के भाषण के तुरंत बाद राष्ट्रगान और अंत में तिरंगे वाले गुब्बारे उड़ाना.

2. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर राष्ट्रपति की ओर से होस्ट की जाने वाली पार्टी.

वहीं केंद्रशासित प्रदेशों और राज्यों में होने वाले स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए भी गाइडलाइंस जारी की गई हैं.

राज्य स्तर पर
1. राज्य की राजधानियों में मुख्यमंत्री की ओर से सुबह 9 बजे ध्वजारोहण किया जाएगा. राष्ट्रगान होगा, पुलिस गार्ड, पैरा-मिलिट्री फोर्सेस, होम गार्ड्स, एनसीसी की ओर से गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा. सीएम का भाषण होगा और अंत में राष्ट्रगान.

2. समारोह छोटे स्तर पर होगा. यानी ज्यादा भीड़भाड़ नहीं होगी. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाएगा. मास्क पहनना अनिवार्य है.

3. स्वतंत्रता दिवस समारोह में कोविड -19 के योद्धाओं- जैसे डॉक्टर, स्वास्थ्यकर्मी, स्वच्छताकर्मी को बुलाना उचित होगा, ताकि कोरोना के खिलाफ जंग में उनके योगदान को सराहा जा सके. कोविड -19 संक्रमण से ठीक हुए कुछ व्यक्तियों को भी आमंत्रित किया जा सकता है.

इन्हीं बातों का जिला स्तर, तहसील स्तर और ग्राम पंचायत के स्तर पर खयाल रखना होगा. गाइडलाइंस में ये भी कहा गया है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि 15 अगस्त को राज्य में राजधानी, जिला, ब्लॉक और पंचायत स्तर पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाए.

कुछ फैसले राज्यपालों के विवेक पर
स्वतंत्रता दिवस के मौके पर होने वाले ‘At Home रिसेप्शन’ को राज्यपाल, उपराज्यपाल के विवेक पर छोड़ा जाता है. फिर भी अगर इस तरह का कार्यक्रम आयोजित होता है, तो गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय की कोरोना से संबंधित गाइडलाइंस का पालन करना होगा. कोरोना वॉरियर्स और कोरोना से ठीक होने वाले लोगों को कार्यक्रम में बुलाया जा सकता है.

स्वतंत्रता आंदोलन से जुड़े ऐतिहासिक महत्व के स्थानों पर पुलिस/ सैन्य बैंड की रिकॉर्डिंग बजाई जा सकती है. इसे बड़े स्क्रीन पर डिजिटल मीडिया के माध्यम से प्रदर्शित किया जा सकता है.

डिजिटल कार्यक्रमों पर जोर
स्वतंत्रता दिवस पर होने वाले अन्य कार्यक्रम किए जा सकते हैं. जैसे पौधे लगाना. इसके अलावा डिजिटल प्लेटफॉर्म पर कविता, कहानी, क्विज, डिबेट कंपिटिशन कराए जा सकते हैं. वेबिनार का आयोजन किया जा सकता है. स्वतंत्रता दिवस मनाने के अन्य नवीन तरीकों पर विचार किया जा सकता है, जैसे डिजिटल और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों के माध्यम से देशभक्ति या राष्ट्रीय एकता का संदेश. महत्वपूर्ण सार्वजनिक भवनों पर लाइट शो, बालकनियों में लोगों द्वारा राष्ट्रीय झंडे लहराना, आदि.

कोरोना की वजह से सरकारी मीटिंग ऑनलाइन हो रही है. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भी होने वाले कार्यक्रमों के डिजिटल होने पर जोर देने को कहा गया है.
कोरोना की वजह से सरकारी मीटिंग ऑनलाइन हो रही है. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भी होने वाले कार्यक्रमों के डिजिटल होने पर जोर देने को कहा गया है.
यह उचित होगा कि स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान होने वाले कार्यक्रमों और सोशल मीडिया पर होने वाली एक्टिविटी के जरिए “आत्मानिभर भारत” की थीम जनता को बताई जाए.

About dhamaka