Breaking News
Home » लोक सभा चुनाव 2019 » 12 मई को होने जा रहे लोकसभा चुनाव में अपनी – अपनी पार्टी के उम्मीदवार को जिताने के लिए चुनावी जंग

12 मई को होने जा रहे लोकसभा चुनाव में अपनी – अपनी पार्टी के उम्मीदवार को जिताने के लिए चुनावी जंग

लोकसभा चुनाव में प्रदेश की अपनी – अपनी पार्टी के उम्मीदवार को जिताने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है राजधानी भोपाल से करीब 140 किमी उत्तर पश्चिम में और राजस्थान से लगी राज्य की सीमा पर मालवा पठार में स्थित राजगढ़ में भाजपा ने शिवराज सिंह चौहान के विश्वस्त एवं मौजूदा सांसद रोडमल नागर को फिर से उम्मीदवार बनाया है। वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने अपनी विश्वस्त सहयोगी एवं पार्टी की स्थानीय नेता मोना सुस्तानी पर दांव लगाया है। वह लोकसभा चुनाव में इस इलाके से पहली महिला उम्मीदवार हैं। इस सीट पर पिछले तीन दशकों से चुनाव के गवाह रहे दवा कारोबारी आलोक कुमार ने कहा कि यहां जो उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं वे दो पूर्व मुख्यमंत्रियों के मातहत हैं।

उन्होंने हमसे कहा, ‘‘ शिवराज यहां 2014 में शुरू हुए भाजपा के ‘राज’ को जारी रखना चाहते हैं, जबकि दिग्विजय कांग्रेस के इस ‘गढ़’ को उनसे (भाजपा से) वापस हासिल करना चाहते हैं ताकि यह स्थापित हो सके कि यह राघोगढ़ शाही परिवार का गढ़ है। इस बार राजगढ़ में यही स्थिति है।’’
राजगढ़ सीट कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के राघोगढ़ क्षेत्र में पड़ती है और वह खुद दो बार इस सीट का संसद में प्रतिनिधित्व कर चुके हैं जबकि उनके भाई लक्ष्मण सिंह कांग्रेस के टिकट पर पांच बार और भाजपा के उम्मीदवार के तौर पर एक बार यहां से निर्वाचित हुए।

नागर ने 2014 के चुनाव में इस सीट पर दो लाख से अधिक वोटों के अंतर से जीत हासिल की थी। लोग उनकी इस जीत का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कथित लहर को देते हैं।

About dhamaka