Breaking News
Home » Astrology » होलिका दहन की रात्रि हनुमान जी को चोला करें अर्पित, मिलेगा मनचाहा वरदान.

होलिका दहन की रात्रि हनुमान जी को चोला करें अर्पित, मिलेगा मनचाहा वरदान.

 
फाल्गुन मास की पूर्णिमा को होली जलाई जाती है। इस दिन महिलाएं शाम के समय होली का पूजन करती हैं और सुख-समृद्धि की कामना करती हैं। इस बार होली जलाने का पर्व 20 मार्च 2019 बुधवार को है। तंत्र शास्त्र के अनुसार होली जलाने के दिन कुछ खास उपाय करने से मनचाहा काम हो जाता है। तंत्र क्रियाओं के लिए प्रमुख चार रात्रियों में से एक रात ये भी है, क्योंकि ये पर्व पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। इस दिन हनुमानजी को प्रसन्न करने वाले टोटके विशेष रूप से किए जाते हैं।

वैसे तो सामन्य रूप से मंगलवार और शनिवार को हनुमानजी को चोला चढ़ाया जाता है। किन्तु होली की पूर्णिमा को यदि बताई गई विधि के अनुसार चोला चढ़ाया जाये तो धन की समस्या से मुक्ति पाई जा सकती है। इस दिन सच्ची श्रद्धा,भाव, भक्ति से ये उपाय किया जाए तो निश्चित ही यह उपाय उचित परिणाम देता है। इस दिन हनुमानजी को तांत्रिक विधि से चोला चढ़ाने से हर बिगड़ा काम बन जाता है और साधक पर हनुमानजी की विशेष कृपा होती है। आइए जानते हैं होली की पूर्णिमा के दिन हनुमानजी को किस प्रकार चोला चढ़ाना चाहिए…

ऐसे चढ़ाएं चोला…

हनुमानजी को चोला चढ़ाने से पहले स्वयं स्नान कर शुद्ध हो जाएं और साफ वस्त्र धारण करें।
सिर्फ लाल रंग की धोती पहने तो और भी अच्छा रहेगा। चोला चढ़ाने के लिए चमेली के तेल का उपयोग करें। साथ ही चोला चढ़ाते समय एक दीपक हनुमानजी के सामने जला कर रख दें। दीपक में भी चमेली के तेल का ही उपयोग करें।
चोला चढ़ाने के बाद हनुमानजी को गुलाब के फूल की माला पहनाएं और केवड़े का इत्र हनुमानजी की मूर्ति के दोनों कंधों पर थोड़ा-थोड़ा छिटक दें। अब एक साबूत पान का पत्ता लें और इसके ऊपर थोड़ा गुड़ व चना रख कर हनुमानजी को भोग लगाएं। भोग लगाने के बाद उसी स्थान पर थोड़ी देर बैठकर तुलसी की माला से नीचे लिखे मंत्र का जप करें। कम से कम 5 माला जप अवश्य करें।
मंत्र-
राम रामेति रामेति रमे रामे मनोरमे।
सहस्त्र नाम तत्तुन्यं राम नाम वरानने।।

About dhamaka