Breaking News
Home » National » सुशांत केस: गृहमंत्री महाराष्ट्र ने बिहार पुलिस के मुंबई में जांच करने पर जताई आपत्ति

सुशांत केस: गृहमंत्री महाराष्ट्र ने बिहार पुलिस के मुंबई में जांच करने पर जताई आपत्ति

Spread News with other

अनिल देशमुख ने आगे लिखा, ‘मैं सुशांत सिंह केस को सीबीआई को सौंपने की मांग की निंदा करता हूं. राजनीतिक फायदे के लिए इस मामले का अब राजनीतिकरण किया जा रहा है. महाराष्ट्र पुलिस इस मामले में पेशेवर रूप से पूछताछ कर रही है और सच्चाई का पता लगाने में सक्षम है, कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है.’

मुंबई आतंकी हमले में वॉन्टेड ...

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने सुशांत सिंह केस मे बिहार पुलिस की मुंबई मे जांच करने पर सवाल खड़ा किया और सीआरपीसी की धाराओं का हवाला देकर कहा है कि इस मामले में पुलिस और स्थानीय अदालत को ही संवैधानिक अधिकार हैं.

गृह मंत्री ने इसे लेकर ट्वीट किया, ‘मुंबई पुलिस ने सुशांत सिंह राजपूत की दुर्भाग्यपूर्ण कथित आत्महत्या के बारे में आरोपों की जांच शुरू कर दी है. भले ही बिहार पुलिस ने पटना में केस दर्ज किया है. लेकिन सीआरपीसी की धारा 12 और 13 के तहत इसकी जांच, पूछताछ के अधिकार स्थानीय पुलिस और अदालतों के पास हैं जिनके अधिकार क्षेत्र में, यह घटना घटी है.’

सुशांत को इंसाफ दिलने को लिए उनके फैंस, कुछ स्टार्स और राजनेता लगातार सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं। सुशांत की मौत को लेकर गहराते रहस्य और सीबीआई जांच की बढ़ती मांग के बीच महाराष्ट्र सरकार ने कह दिया है कि इस मामले की जांच महाराष्ट्र पुलिस ही करेगी। महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने बुधवार शाम कहा कि मुंबई पुलिस मामले की जांच कर रही है और इसे सीबीआई को ट्रांसफर नहीं किया जाएगा।

इस मामले में सुशांत के करोड़ों फैन्स के साथ ही लगभग पूरे देश से घटना की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराए जाने की मांग जोरो पर है। लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने सुशांत मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। उन्होंने सोमवार को इस सिलसिले में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बातचीत की थी। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) नेता और महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजित पवार के बेटे पार्थ पवार ने भी सीबीआई जांच की मांग की है। अपनी मांग को लेकर उन्होंने सोमवार को एक पत्र प्रदेश के गृह मंत्री अनिल देशमुख को सौंपी है।

वहीं सीबीआई मांग को लेकर रिपब्लिक भारत से बात करते हुए बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि ” सुशांत सिंह राजपूत के पिता और बहन से मुलाकात कर उन्हें हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। अगर सीबीआई जांच के विषय में मांग करनी पड़े तो हमलोग करेगें।

उन्होंने कहा सुशांत सिंह राजपूत देश के यूथ आइकॉन रहे हैं, उन्होंने बिहार का नाम रोशन किया। और एक बिहारी होने के नाते हम सब जानना चाहते हैं कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत की वजह क्या है?

तेजस्वी आगे कहा कि ‘सुशांत सिंह राजपूत मामले में मुंबई पुलिस अभी तक कोई पहलु पर नहीं पहुंच पाई। हालांकि देर से ही सही सुशांत के पिता ने जो केस दर्ज कराया है। उसका समर्थन करते हैं। लेकिन हमें शक है कि बिहार पुलिस इतनी सक्षम ही नहीं हैं कि इस केस की जांच कर पाए। क्योंकि बिहार पुलिस के पास इतने पेंडिंग केस पड़े हैं तो बेहतर होगा कि इस मामले में सीबीआई जांच हो। हमलोग चाहते हैं कि जांच निष्पक्ष तरीके से हो सुशांत सिंह राजपूत के परिवार को न्याय मिले। यह दुख की बात है कि सीएम अब तक सुशांत सिंह राजपूत के परिजनों से नहीं मिले हैं।’

उन्होंने कहा कि मैंने चिट्ठी लिख कर सीएम नीतीश कुमार से मांग की है कि सुशांत सिंह राजपूत के नाम पर फिल्म सिटी बनाया जाए। लेकिन इस मामलें में उन्होंने कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। सीएम नीतीश कुमार को उद्धव ठाकरे से फोन पर बात करके सीबीआई जांच की मांग करनी चाहिए।

About dhamaka