Breaking News
Home » National » विशेष आर्थिक पैकेज – आर्थिक पैकेज की तीसरी किस्त में वित्तमंत्री ने कृषि, पशुपालन, मछलीपालन, डेयरी, हर्बल खेती को लेकर किया ऐलान

विशेष आर्थिक पैकेज – आर्थिक पैकेज की तीसरी किस्त में वित्तमंत्री ने कृषि, पशुपालन, मछलीपालन, डेयरी, हर्बल खेती को लेकर किया ऐलान

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण विशेष आर्थिक पैकेज को लेकर महत्वपूर्ण ऐलान किये है।
कृषि, पशुपालन के लिए पैकेज का ऐलान
विशेष पैकेज की तीसरी किस्त में मुख्य प्वाइंट….

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए 2 लाख करोड़ रुपये
किसानों को 18 हजार 700 करोड़ रुपये दिए2 करोड़ किसानों को 5 हजार करोड़ का लाभ मिला
कृषि का आधारभूत ढांचा मजबूत करने के लिए 1 लाख करोड़ का फंड

मधुमक्खी पालन के लिए 500 करोड़ रुपये की मदद का ऐलान

डेयरी के कर्ज में 2 फीसदी ब्याज की छूट

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को कहा कि पैकेज की तीसरी किस्त में कृषि व इससे संबद्ध क्षेत्रों को राहत देने पर ध्यान दिया गया है. उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि पैकेज की तीसरी किस्त में कृषि व इससे संबद्ध क्षेत्रों में बुनियादी संरचना तथा क्षमता निर्माण पर ध्यान दिया जायेगा. उन्होंने कहा कि पिछले दो महीनों में किसानों की मदद करने के लिये कई उपाय किये गये हैं. इनमें लॉकडाउन के दो महीनों के दौरान न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर 74,300 करोड़ रुपये की खरीद भी शामिल है.

अंतरराज्यीय व्यापार पर प्रतिबंध हटाया जायेगा
किसानों को आकर्षक मूल्य पर उपज बेचने के लिए पर्याप्त विकल्प प्रदान करने के लिए एक केंद्रीय कानून तैयार किया जायेगा, बाधा रहित अंतरराज्यीय व्यापार और कृषि उपज के ई-ट्रेडिंग के लिए रूपरेखा तैयार की जायेगी.

कोल्ड स्टोरेज और यार्ड के लिए एक लाख करोड़
वित्त मंत्री ने कोल्ड स्टोरेज, यार्ड जैसी बुनियादी संरचनाओं के निर्माण के लिए एक लाख करोड़ रुपये का कृषि बुनियादी संरचना कोष बनाने की घोषणा की.

औषधीय पौधों की खेती को बढ़ावा
सरकार की यह कोशिश है कि गंगा नदी के किनारे औषधीय पौधों की खेती हो, इसके लिए 4000 करोड़ का प्रावधान किया गया है.

मधुमक्खी पालन के लिए सरकार देगी 500 करोड़
सरकार ने मधुमक्खी पालन के लिए 500 करोड़ रुपये देने की घोषणा की है. मधुमक्खी पालन में जुटे दो लाख किसानों को सरकार मदद देगी.

पशुपालन के लिए बुनियादी ढांचा विकास कोष स्थापित किया जायेगी, सरकार देगी 15,000 करोड़ रुपये
चूंकि देश में पशुपालन एक प्रमुख उद्योग है, इसलिए इसके विकास और बेहतरी के लिए सरकार 15,000 करोड़ देगी ताकि आधारभूत ढांचा विकसित किया जा सके.

मछली पालन को दोगुना करने के लिए 11 करोड़
वित्त मंत्री ने बताया कि आने वाले वर्षों में देश में मछली पालन को दोगुना किया जायेगा. सरकार ने इसके लिए 11 करोड़ की सहायता देने की घोषणा की है. पशुधन की सुरक्षा भी बहुत जरूरी है, इसलिए उन्हें सुरक्षित रखने के लिए टीकाकरण किया जायेगा. मुंह पका रोग के लिए वैक्सीन लगाया जायेगा. इसके लिए 13, 343 करोड़ रुपये दिया गया. डेयरी उद्योग में निजी निवेश को बढ़ाव देगी सरकार.

लोकल होगा वोकल, बिहार के मखाना और आंध्र प्रदेश के मिर्च के लिए बनेगा कलस्टर
वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि पीएम मोदी ने कहा कि हमें आत्मनिर्भर भारत बनाना है, जिसमें लोकल को वोकल किया जायेगा. इसके तहत बिहार के मखाना, आंध्र प्रदेश के मिर्च, कश्मीर के केसर आदि के लिए कलस्टर बनाया जायेगा. इसके लिए 10 हजार करोड़ रुपये दिये गये हैं.

दो करोड़ किसानों को ब्याज में मिलेगी सब्सिडी
किसानों को बदहाली से निकालने के लिए सरकार उन्हें ऋण के ब्याज में दो प्रतिशत की सब्सिडी दी जायेगी.

किसानी के लिए सुविधा उपलब्ध कराने हेतु एक लाख करोड़ की सहायता
वित्तमंत्री ने घोषणा की कि कृषि क्षेत्र में किसान तो बहुत मेहनत करता है, लेकिन आधार भूत ढांचा की सुविधा ना होने के कारण उन्हें परेशानी होती है. इसलिए सरकार कृषि के लिए बुनियादी सुविधा उपलब्ध कराने के लिए सरकार एक लाख करोड़ की सहायता देगी.

पीएम किसान सम्मान से किसानों को मिला लाभ
पिछले दो महीने में सरकार ने पीएम किसान सम्मान योजना के तहत किसानों को लाभ दिया. सरकार ने 18,700 करोड़ रुपये सीधे किसानों के खाते में दिया. 74 हजार 300 करोड़ की फसल खरीद गयी है. न्यूनतम समर्थन मूल्य किसानों को दिया गया. छह हजार चार सौ करोड़ की फसल बीमा की क्लेम किसानों को मिली है.

कृषि, डेयरी, मछली पालन सहित कृषि से जुड़े कार्यों को राहत
हमारे देश के किसान बहुत मेहनत करते हैं, बावजूद इसके वे परेशान रहते हैं, इसलिए आज की घोषणा में हम कृषि और कृषि संबंधित कार्यों से जुड़ें लोगों को राहत देने के लिए घोषणाएं करेंगे. आज सरकार 11 ऐलान करेगी.

About dhamaka