Breaking News
Home » Entertainment » रिया चक्रवर्ती और उनके रिश्तेदारों पर ईडी ने दर्ज किया मनी लॉन्ड्रिंग का केस, जल्द हो सकती है पूछताछ

रिया चक्रवर्ती और उनके रिश्तेदारों पर ईडी ने दर्ज किया मनी लॉन्ड्रिंग का केस, जल्द हो सकती है पूछताछ

Spread News with other

प्रवर्तन निदेशालय EDने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद उनके एकाउंट में गई कथित आर्थिक गड़बड़ि‍यों से संबंधित मामले में धनशोधन को लेकर एक सूचना रिपोर्ट दर्ज की है. बताया जा रहा है कि प्रवर्तन निदेशालय ने बिहार पुलिस की एफआईआर के आधार पर ये केस दर्ज किया है. इससे साफ हो गया है कि ईडी धनशोधन रोकथाम कानून यानी पीएमएलए के तहत संभावित जांच पर गौर कर रही है

गौरतलब है कि प्रवर्तन निदेशालय ने गुरूवार को बिहार पुलिस से अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के अलावा रिया चक्रवर्ती और संबंधित लोगों के खिलाफ दर्ज शिकायत की कॉपी मांगी थी. ईडी अब सुशांत सिंह राजपूत के पैसों के दुरूपयोग और उनके बैंक खातों में हुई कथित गड़बड़ी की जांच करना चाहती है. बताया जा रहा है कि ईडी इस एंगल से भी मामले की जांच करेगी कि क्या किसी ने सुशांत सिंह राजपूत के पैसों का इस्तेमाल ब्‍लैक मनी को व्‍हाइट में बदलने में किया और अवैध संपत्तियां बनाईं?

जांच में अगर पैसों की गड़बड़ी की बात सामने आती है तो प्रवर्तन निदेशालय आरोपियों की संपत्ति भी कुर्क कर सकता है, साथ ही प्रवर्तन निदेशालय के पास पीएमएलए के तहत आरोपियों को गिरफ्तार करने का भी अधिकार है. गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत के पिता कृष्ण कुमार सिंह ने अपने बेटे सुशांत की मौत के लिए रिया चक्रवर्ती और उनके परिजनों समेत 6 लोगों पर उनके बेटे को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज करवाई थी. सुशांत के पिता का आरोप है कि रिया ने अपना कॅरियर चमकाने के मकसद से मई 2019 में सुशांत सिंह के साथ दोस्ती बढ़ाई.

सुशांत सिंह राजपूत के पिता ने मामले की जांच और सुनवाई बिहार में कराए जाने की मांग की थी जिसके खिलाफ रिया चक्रवर्ती सुप्रीम कोर्ट चली गईं और कहा कि मामले की जांच मुंबई में ही हो. अब सुशांत सिंह राजपूत के पिता ने भी सुप्रीम कोर्ट का रूख किया है. उन्‍होंने कैविएट दाखिल करके कोई भी आदेश जारी करने से पहले उनका भी पक्ष सुने जाने की गुहार लगाई है. आपको बता दें कि 34 वर्षीय अभिनेता सुशांत बांद्रा स्थित अपने अपार्टमेंट में 14 जून को फांसी के फंदे से झूलते पाए गए थे.

About dhamaka