Breaking News
Home » Astrology » महाशिवरात्रि का पर्व: शिवजी को करना है प्रसन्न तो करे ऐसे पूजा

महाशिवरात्रि का पर्व: शिवजी को करना है प्रसन्न तो करे ऐसे पूजा

4 मार्च 2019 को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाएगा. माना जाता है कि सृष्टि के प्रारंभ में इसी दिन मध्यरात्रि को भगवान शंकर का ब्रह्मा से रुद्र के रूप में अवतरण हुआ था. कहते हैं कि महाशिवरात्रि में किसी भी प्रहर अगर भोले बाबा की आराधना की जाए तो भोले त्रिपुरारी दिल खोलकर अपने भक्तों की मनोकामनाएं पूरी करते हैं. महाशिवरात्रि भगवान शिव के पूजन का सबसे बड़ा पर्व है. फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को महाशिवरात्रि पर्व मनाया जाता है. त्योहार से पहले ही तैयारियां कर लेना बेहतर होता है.

महाशिवरात्रि से पहले ऐसे करें तैयारियां-
– नहाकर हल्के सफेद या हल्के गुलाबी रंग के कपड़े पहनें.

– भगवान सूर्यनारायण को तांबे के लोटे से जल दें और वहीं पर खड़े होकर 3 प्रदक्षिणा करें.

– अब अपने घर के मंदिर में साफ सफाई आरंभ कर दें और हो सके तो अपने घर के मंदिर को उत्तर पूर्व के कोने में ईशान कोण में स्थापित करें.

– मंदिर के सभी सामान को व्यवस्थित तरीके से रखें.

– मंदिर में प्रयोग होने वाले दीया, प्लेट, घण्टी, शंख आदि को पहले ही साफ करके रखें.

– महाशिवरात्रि की पूजा में प्रयोग होने वाली समस्त सामग्रियों को पहले से ही जुटा कर रखें.

– महाशिवरात्रि से एक दिन पूर्व इस तरीके से तैयारी करने से आपको अगले दिन की पूजा में किसी तरीके का व्यवधान नहीं होगा और पूजा पाठ के कार्य में मन लगा रहेगा.

भगवान शिव को अर्पित की जाने वाली सामग्री-

महाशिवरात्रि से एक दिन पहले आप भगवान शिव को अर्पण करने की समस्त सामग्रियों को खरीदें. जैसे रोली, मोली, साबुत चावल, धूप दीप, मिश्रि, कमलगट्टा, साबुत हल्दी, पांच प्रकार के फल, सफेद मिष्ठान, सफेद चंदन, नागकेसर, केसर, मिश्री, बेलपत्र, आक धतूरा, भांग, लाल और पीले गुलाब के फूल, आक के फूल, रंग बिरंगे अबीर गुलाल, गुलाब और चंदन का इत्र. इन सारी सामग्रियों को एक दिन पहले ही खरीद कर अपने पूजा के स्थान पर रखें.

About dhamaka