Breaking News
Home » Main News » भारत-चीन सीमा विवाद :भारत और चीन तनाव कम करने के लिए कल फिर होगी मीटिंग, लद्दाख में LAC से सेना पीछे हटाने पर होगी चर्चा

भारत-चीन सीमा विवाद :भारत और चीन तनाव कम करने के लिए कल फिर होगी मीटिंग, लद्दाख में LAC से सेना पीछे हटाने पर होगी चर्चा

Spread News with other

पूर्वी लद्दाख में सीमा पर जारी तनाव कम करने के लिए भारत और चीन गुरुवार को फिर मीटिंग करेंगे। मीटिंग वर्किंग मैकेनिज्म फॉर कंसलटेशन एंड कोआर्डिनेशन (डब्ल्यूएमसीसी) के तहत होगी। मीटिंग में सीमा से सेना को पीछे हटाने को लेकर एक बार फिर मीटिंग होगी।

पिछले महीने हुई डब्ल्यूएमसीसी की 17वीं मीटिंग में दोनों देशों के बीच एग्रीमेंट और प्रोटोकॉल के तहत लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) से सेना को पूरी तरह पीछे हटाने को लेकर सहमति बनी थी। मीटिंग में दोनों देशों के रिश्तों को आगे ले जाने के लिए सीमा पर शांति बहाली की जरूरत पर भी सहमति बनी थी।

ज्वाइंट सेक्रेटरी लेवल के अधिकारी लीड करेंगे
डब्ल्यूएमसीसी की बैठक को दोनों देशों के ज्वाइंट सेक्रेटरी लेवल के अधिकारी लीड करेंगे। कई मिलिट्री और डिप्लोमेटिक बातचीत के बाद भी चीन ने फिंगर एरिया, देप्सांग प्लेंस और गोगरा से सेना को पीछे हटाने की प्रक्रिया को आगे नहीं बढ़ाया है। चीनी सैनिक पिछले तीन महीने से फिंगर में जमे हुए हैं और उन्होंने वहां बंकरों के निर्माण के साथ-साथ अपने ठिकानों को और मजबूत करना शुरू कर दिया है।

इससे पहले भारत ने कहा था कि हमें उम्मीद है कि चीन ईमानदारी से पूर्वी लद्दाख में एलएसी के पास से अपनी सेना को पूरी तरह पीछे हटाने के साथ बॉर्डर पर शांति बहाल करेगा।

लंबी समय तक मोर्चा संभालने के लिए भारत तैयार
सूत्रों के मुताबिक, चीन के गलत इरादों का अनुमान भारतीय सेना को भी है। लिहाजा, इस क्षेत्र में भारतीय सेना ने भी लंबे वक्त तक मोर्चा संभालने की पूरी तैयारी कर ली है। भारतीय सैनिक हालात पर नजर रख रहे हैं। इनके पास, पर्याप्त राशन, इस क्षेत्र के लिए जरूरी खास तरह के कपड़े, स्पेशल आर्कटिक टैंट्स और दूसरे जरूरी उपकरण हैं। लद्दाख में इस वक्त करीब 35 हजार भारतीय सैनिक तैनात हैं।

About dhamaka