Breaking News
Home » National » भारतीय वायुसेना में “लादेन किलर” की एंट्री, जानिए

भारतीय वायुसेना में “लादेन किलर” की एंट्री, जानिए

भारतीय वायु सेना को उसका पहला “लादेन किलर” यानी अपाचे हेलीकॉप्टर (Apache Attack Helicopter) मिल गया है| अमेरिकी कंपनी बोइंग निर्मित AH-64E अपाचे अटैक हेलीकॉप्टर को एयर मार्शल ए एस बुटोला को सौंपा दिया गया है| इसको दुनिया का सबसे आधुनिक और सबसे खतरनाक हेलीकॉप्टर माना जाता है| बता दें कि, हिंदुस्तान और अमेरिका के बीच 22 AH-64E अपाचे हेलीकॉप्टर खरीदने की डील हुई है| इसके मिलने के बाद ऐसा माना जा रहा है कि, अब भारत अमेरिका की तरह पाकिस्तान में घुसकर आतंकी ठिकानों को तबाह कर सकता है|

बता दें कि, भारतीय वायु सेना वर्षो ने रूस में बने एमआई-35 का इस्‍तेमाल कर रही है| हालांकि वो हेलीकॉप्टर अब रिटायरमेंट की कगार पर आ गया है| अपाचे हेलीकॉप्टर पूर्णतः लड़ाकू प्रकृति का है| इस हेलीकॉप्टर को इस तरह डिज़ाइन किया गया है कि, वो दुश्मन के इलाके में घुसकर किलबंद इमारतों को भेद कर अपने ऑपरेशन को अंजाम दे सकता है| इसकी मदद से अब भारत पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में आतंकी ठिकानों को आसानी से तबाह कर सकता है|

2011 में अमेरिका ने इसमें और बैक हवाक हेलीकॉप्टर में कुछ बदलाव करके पाकिस्तान में बैठे अलकायद चीफ ओसामा बिन लादेन को मार गिराया था| पाकिस्तानी सेना को इस बात की भनक तक नहीं लगी थी|

इसकी खूबियां
  • सबसे एडवांस हेलीकॉप्टर है| एक साथ कई काम करने में सक्षम
  • इसने पहली उड़ान साल 1975 में भरी लेकिन वर्ष 1986 में इसे अमेरिकी सेना में शामिल किया गया|
  • हेलीकॉप्टर में दो जनरल इलेक्ट्रिक T700 टर्बोशैफ्ट इंजन है|
  • अपाचे हेलीकॉप्टर 365 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ सकता है|
  • इसमें हेल्मेट माउंटेड डिस्प्ले, इंटिग्रेटेड हेलमेट और डिस्प्ले साइटिंग सिस्टम लगा है, जिसकी मदद से हेलीकॉप्टर में लगी ऑटोमैटिक एम230 चेन गन को पायलट दुश्मनो पर इस्तेमाल कर सकता है|
  • हेलीकॉप्टर में हेलिफायर और स्ट्रिंगर मिसाइलें लगी है और दोनों तरफ 30mm की दो गन्स है|
  • इसका वजन 5,165 किलोग्राम है और इसमें एक वक्त पर दो पायलट बैठ सकते है|
  • अंधेरे में उड़ान भरने के लिए हेलीकॉप्टर के आगे एक सेंसर फिट किया गया है|

 

About dhamaka