Breaking News
Home » Main News » बिहार के किसानों के लिए 1000 FPO बनाएगी बीजेपी, कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए केंद्र से एक लाख करोड़ का फंड:PM

बिहार के किसानों के लिए 1000 FPO बनाएगी बीजेपी, कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए केंद्र से एक लाख करोड़ का फंड:PM

Spread News with other

बिहार में विधानसभा चुनाव (Bihar Chunav 2020) को लेकर 3 नवंबर को दूसरे चरण की वोटिंग है। ऐसे में सभी प्रमुख सियासी दल जमकर चुनाव प्रचार में जुटे हुए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने रविवार को बिहार में चुनावी रैलियों को संबोधित किया। इस दौरान समस्तीपुर की रैली में पीएम मोदी ने किसानों (PM Modi Rally) को लेकर सरकार की ओर से उठाए जा रहे कदमों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने बिहार में किसानों के लिए 1000 किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) बनाने का फैसला किया है। इसके अलावा, केंद्र सरकार ने किसानों के लिए कृषि इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए 1 लाख करोड़ रुपये का नया फंड बनाया है।

पीएम मोदी ने कहा कि नीतीश बाबू के नेतृत्व एनडीए सरकार बिहार के विकास का संकल्प दिखा रही है। हमें जनता का भरपूर आशीर्वाद मिला है। बिहार के बेटे-बेटियां जिन्हें आज मुद्रा लोन मिल रहा है, बैंकों ने जिनके लिए दरवाजे खोल दिए हैं वो आज अपने उज्ज्वल भविष्य के लिए एनडीए पर भरोसा कर रहे हैं। शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर काम हुआ है। जिनको आज पक्का घर मिल रहा है, जिनको चिकित्सा मिल रही है, जो जरूरी सुविधाओं के लिए भटकने पर मजबूर थे, वो आज एनडीए की जीत का आधार बने हैं।

‘कृषि इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए 1 लाख करोड़ रुपये का नया फंड’
प्रधानमंत्री ने कहा कि आज अगर हर आंकलन, हर सर्वे NDA की जीत का दावा कर रहा है तो उसके पीछे ठोस और मजबूत कारण है। आज NDA की फिर से सरकार हमारी माताएं-बहनें बना रही हैं जिनको हमारी सरकार, नीतीश सरकार ने सुविधाओं और अवसरों से जोड़ा है। बीजेपी ने बिहार में किसानों के लिए 1000 किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) बनाने का फैसला किया है। वहीं, केंद्र सरकार ने किसानों के लिए कृषि इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए 1 लाख करोड़ रुपये का नया फंड बनाया है।

पीएम मोदी ने कहा कि एनडीए सरकार ने आज समाज के उस वर्ग के सपनों को नई उड़ान दी है जो कभी वंचित था, दशकों से मूलभूत सुविधाएं नहीं थी। क्या कभी कोई गरीब सोच सकता था कि उनके पास मोबाइल और बैंकों में खाते होंगे। आज वो सब मिल रहा है। वो जीविका दीदियां, जो आज आत्मनिर्भर परिवार और आत्मनिर्भर बिहार की प्रेरणा बन रही हैं, वो NDA को ताकत दे रही हैं। घर-घर, स्कूल-स्कूल बने शौचालयों ने जिन बहनों-बेटियों को गरिमा दी, अंधेरे के इंतज़ार से मुक्ति दी, वो NDA की सरकार बना रही हैं। जिन बहनों को पीने के पानी के संघर्ष से मुक्ति मिली वो NDA के पक्ष में वोट डाल रही हैं। जीवन भर धुएं में उलझती उन बहनों का वोट NDA के लिए है, जिनके घर में उज्जवला का सिलेंडर पहुंचा है।

‘एक तरफ एनडीए गठबंधन है, दूसरी तरफ निहित स्वार्थ के लिए समर्पित पारिवारिक गठबंधन’
पीएम मोदी ने कहा कि आज देश में एक तरफ लोकतंत्र के लिए पूर्ण रूप से समर्पित, एनडीए का गठबंधन है। वहीं दूसरी तरफ अपने निहित स्वार्थ को समर्पित पारिवारिक गठबंधन हैं। सिर्फ और सिर्फ अपने-अपने परिवार के लिए काम कर रही इन पारिवारिक पार्टियों ने आपको क्या दिया? बड़े-बड़े बंगले बने, तो किसके बने? महल बने, तो किसके बने? बड़ी-बड़ी करोड़ों की गाड़ियां आईं, गाड़ियों का काफिला बना, तो किसका बना।सरदार साहब ने पूरा जीवन सिर्फ और सिर्फ देश के लिए लगाया की नहीं? जिनकी नीयत खराब हो, जिनकी नीति सिर्फ गरीबों का धन लूटने की हो, जो निर्णय सिर्फ अपने और अपने परिवार को ध्यान में रखकर लेते हों, वो विकास के हर प्रयास का विरोध ही करेंगे।

About dhamaka