Breaking News
Home » States » पूर्वांचल में औद्योगिक विकास की अपार सम्भावनाएं: मुख्यमंत्री

पूर्वांचल में औद्योगिक विकास की अपार सम्भावनाएं: मुख्यमंत्री

सकारात्मक माहौल विकास को गति प्रदान करता है
 
उद्यमियों की समस्याओं का समयबद्ध निराकरण तथा
उद्योग बन्धु की नियमित बैठकें आयोजित करने के निर्देश

लखनऊ: 04 दिसम्बर, 2019

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने आज जनपद गोरखपुर के सर्किट हाउस स्थित एनेक्सी सभागार में फिक्की व गीडा के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित उद्यमी सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि पूर्वांचल में औद्योगिक विकास की अपार सम्भावनाएं हैं। उद्यमी अधिक से अधिक निवेश करंे, उनकी सुरक्षा का बेहतर माहौल सृजित किया गया है। इस अवसर पर उन्होंने 06 उद्यमियों को सम्मानित भी किया।
उद्यमी सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में मुख्यमंत्री ने कहा कि 30 नवम्बर, 1989 को गीडा की स्थापना हुई थी। आज गीडा में अनेक उद्योग स्थापित हुए हैं, जिसमें हजारों नौजवानों को रोजगार से जोड़ा जा रहा है। उन्होंने कहा कि सकारात्मक माहौल विकास को गति प्रदान करता है। प्रदेश सरकार ने उद्योगों के विकास हेतु विभिन्न नीतियां बनायी हैं। उन्होंने उद्यमियों से अपील की कि वे शासन द्वारा निर्धारित नीति/नियम के तहत अपने उद्योग स्थापित करें तथा निर्भीक होकर कार्य करें।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा फरवरी, 2018 में इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन कराया गया। अब तक लगभग ढाई लाख करोड़ रुपए से ऊपर निवेश कराने में सफलता मिली है। इसके तहत अनेक उद्योग प्रारम्भ भी हो चुके हैं। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का तेजी से निर्माण कराया जा रहा है। इस एक्सप्रेस-वे को जनपद गोरखपुर से जोड़ने के लिए गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे का भी निर्माण कराया जाएगा। इस लिंक एक्सप्रेस-वे के दोनों तरफ औद्योगिक गलियारा विकसित किया जाएगा, जिसमें रोजगार के काफी अवसर प्राप्त होंगे।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि प्रदेश सरकार विकास की ओर निरन्तर अग्रसर है और बिना भेदभाव से कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि गोरखपुर का खाद कारखाना, जो काफी समय से बन्द पड़ा था, वह अगले वर्ष चालू हो जाएगा। इस पर तेजी से कार्य चल रहा है। बन्द चीनी मिलों को पुनः चालू किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 50 हजार कुन्तल प्रतिदिन की पेराई क्षमता वाली पिपराइच चीनी मिल प्रारम्भ हो गयी है। इससे किसानों, नौजवानों के रोजगार की सम्भावनाएं बढ़ी हैं। उन्होंने कहा कि कोई भी कार्य असम्भव नहीं होता है, जब सोच सकारात्मक हो।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि प्रदेश सरकार नगरों की हवाई कनेक्टिविटी सुनिश्चित कर रही है। इस समय उत्तर प्रदेश में 07 एयरपोर्ट क्रियाशील हैं। इसके अतिरिक्त, 11 अन्य एयरपोर्ट के विकास का कार्य तेजी से चल रहा है। उन्होंने कहा कि जेवर और कुशीनगर में अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे का निर्माण किया जा रहा है। गोरखपुर से अन्य महानगरों को भी हवाई सेवाएं प्रदान की गयी हैं। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड में स्थायी रोजगार सृजन के लिए डिफेंस काॅरिडोर की आधारशिला रखी गयी है, जिसके विकसित होने पर बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार मिलेगा। इसके अलावा, बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे का भी निर्माण किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री  ने शासन की नीतियों के तहत उद्यमियों से पूर्वांचल क्षेत्र में निवेश करने का आह्वान किया। उन्होंने अधिकारियों को उद्यमियों की समस्याओं का समयबद्ध निराकरण तथा उद्योग बन्धु की नियमित बैठकें आयोजित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि समाज में पारदर्शी व्यवस्था लागू हो और एक अभियान के तहत इसमें आमजन को जोड़ा जाए। उन्होंने कहा कि जी0एस0टी0 एक बेहतर व्यवस्था है और इसका अनुपालन व्यापक स्तर पर उद्यमियों, व्यापारियों आदि द्वारा किया जाए। उन्होंने जी0एस0टी0 रजिस्टेªशन में तेजी लाए जाने के निर्देश दिए।
इस अवसर पर अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टण्डन ने बताया कि उद्यमी सम्मेलन में काफी औद्योगिक जानकारियां उपलब्ध करायी गयी हैं। इन औद्योगिक नीतियों के तहत उद्योग स्थापित कर उद्यमी लाभान्वित हो सकते हैं। वर्तमान में गीडा द्वारा 3500 भूखण्ड आवंटित किए गए हैं, जिन पर 469 इकाइयां स्थापित की जा चुकी हैं। इनमें 1500 करोड़ रुपए की पूंजी का निवेश हुआ है। वर्तमान वित्तीय वर्ष में 500 करोड़ रुपए का निवेश प्राप्त होने की सम्भावना है। पूर्वांचल एक्सपे्रस-वे के दोनों तरफ औद्योगिक गलियारा बनाने हेतु भूमि अधिग्रहण की कार्यवाही की जा रही है। गीडा द्वारा उद्यमियों की सुविधा हेतु सड़कों का चैड़ीकरण, विद्युतीकरण आदि कार्य तीव्र गति से कराए जा रहे हैं।
इस मौके पर प्रमुख सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास श्री आलोक कुमार ने कहा कि निवेशकों की समस्याओं का समयबद्ध निस्तारण किया जाए, ताकि उन्हें उद्योग स्थापना सम्बन्धी कोई कठिनाई न हो। उन्होंने गीडा में निवेश मित्र पोर्टल पर आॅनलाइन आवेदन हेतु हेल्प डेस्क बनाने पर बल देते हुए कहा कि शासन द्वारा औद्योगिक विकास हेतु निरन्तर कार्य किया जा रहा है।
मण्डलायुक्त श्री जयन्त नार्लिकर ने मुख्य अतिथि सहित उपस्थित सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए गीडा की प्रगति एवं विकास कार्यों को विस्तार से जानकारी दी। गीडा के सी0ई0ओ0 श्री संजीव रंजन ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को आभार व्यक्त किया। इस मौके पर जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी एवं बड़ी संख्या में उद्यमी उपस्थित थे।

About dhamaka