Breaking News
Home » Main News » पाकिस्तान को करारा जवाब देते हुए भारतीय सेना ने किया मिसाइल अटैक

पाकिस्तान को करारा जवाब देते हुए भारतीय सेना ने किया मिसाइल अटैक

Spread News with other

तंगधार सेक्टर में शुक्रवार सुबह पाकिस्तान सेना की गोलीबारी में 6 भारतीय नागरिक घायल हुए हैं। इसके जवाब में भारतीय सेना ने पीओके की लेपाघाटी में मिसाइल अटैक किया, जिसमें पाकिस्तानी सेना के 4 सैनिक मारे गए। उनमें एक मेजर भी है। भारत की इस जवाबी कार्रवाई में 12 से अधिक पाकिस्तानी सैनिक घायल भी हुए हैं। भारतीय सेना ने लेपाघाटी में पाक सेना की कई चौकियों को मिसाइल से निशाना बनाकर तबाह कर दिया। इसके अलावा गाइडेड तोपखाने के गोले और मोर्टार के साथ दुश्मन के ठिकानों को निशाना बनाया। पीओके के पांच लांचिंग पैड्स पर करीब 300 आतंकी भारत में घुसपैठ करने की फिराक में हैं।पाकिस्तान ने पीओके के जिस इलाके मुजफ्फराबाद में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को रैली करने की चुनौती दी है, उसी इलाके में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के करीब इस वक्त करीब 300 आतंकी भारत में घुसपैठ करने के लिए तैयार बैठे हैं। खुफिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत के तंगधार सेक्टर के ठीक सामने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के मुजफ्फराबाद में लीपावैली, दुधनियाल, केल, जोरा और अथमुकाम आतंकियों के लांचिंग पैड्स हैं। भारत ने 2016 में सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान पीओके के लीपावैली और केल में स्थित आतंकी लांच पैड्स को तबाह किया था लेकिन इसके बाद अब फिर से आतंकियों के ये अड्डे चालू कर दिए गए हैं। ठंड के दिनों में बर्फ़बारी, धुंध की चादर और कोहरा से एलओसी पर दृश्यता (विजिविलिटी) शून्य हो जाने की वजह से यह मौसम आतंकियों की घुसपैठ के लिए मुफीद माना जाता है। ​​सीमा पर अभी से धुंध और कोहरा छाने लगा है लेकिन आतंकियों को अभी और ठंड बढ़ने का इंतजार है।​​​ पीओके के आतंकी लांच पैड्स के ठीक सामने एलओसी पर 11 हजार फीट की ऊंचाई पर खून जमा देने वाली ठंड के बीच मुस्तैद बज्र डिवीजन के भारतीय सैनिकों की कड़ी चौकसी है, जिसकी वजह से अभी लीपावैली, दुधनियाल, अथमुकाम से आतंकी घुसपैठ में कामयाब नहीं हो पा रहे हैं। एलओसी के दूसरी तरफ पाकिस्तान की रिजर्व ब्रिगेड के जवान तैनात हैं। अभी कुछ दिनों पहले पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी, सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा और रक्षा मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ ने एलओसी का दौरा किया है। इसके बाद पाकिस्तान ने एलओसी पर अपनी रिजर्व ब्रिगेड की संख्या भी बढ़ाई है, इसीलिए भारत ने भी अपनी चौकसी बढ़ा दी है। सेना के सूत्रों का कहना है कि इस वक्त पाकिस्तान को भारत की ओर से हमले का डर सता रहा है, इसलिए पाकिस्तानी मंत्रियों ने अपनी सेनाओं को सक्रिय रखने और अपनी सैन्य तैयारियों को देखने के लिए एलओसी पर दौरा किया है।खुफिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तंगधार सेक्टर के ठीक सामने पीओके के केल इलाके से आतंकी संगठन अल बद्र के 6 आतंकियों, दुधनियाल से जैश-ए-मोहम्मद के 6 आतंकियों और अथमुकाम इलाके से लश्कर-ए-तैयबा के 5 आतंकियों को लांचिंग पैड्स पर मौजूद 300 आतंकियों की भारत में घुसपैठ कराने की जिम्मेदारी दी गई है लेकिन भारतीय सेना इन घुसपैठियों को रोकने के लिए पूरी तरह से मुस्तैद है। इसी तंगधार सेक्टर में गुरुवार सुबह पाकिस्तान सेना ने सीमा पार से गोलीबारी की, जिसमें 6 भारतीय नागरिक घायल हुए हैं। इसके जवाब में भारतीय सेना ने पीओके की लेपाघाटी में पाकिस्तान की अग्रिम चौकियों पर मिसाइल से अटैक किया, जिसमें पाकिस्तानी सेना के एक मेजर समेत 4 सैनिक मारे गए हैं। भारत की इस जवाबी कार्रवाई में 12 से अधिक सहित पाकिस्तानी सैनिक घायल भी हुए हैं। भारतीय सेना ने लेपाघाटी में पाक सेना की कई चौकियों को मिसाइल से निशाना बनाकर तबाह कर दिया।

About dhamaka