Breaking News
Home » International » नेपाल के प्रधानमंत्री ओली ने कुर्सी जाती देख भारत पर लगाया ये फर्जी आरोप!

नेपाल के प्रधानमंत्री ओली ने कुर्सी जाती देख भारत पर लगाया ये फर्जी आरोप!

Spread News with other

नेपाल ने विवादित नक्शा पास होने के बाद से वहां की सियासत में जैसे तूफान आया हुआ है। प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली अपनी कुर्सी बचाने के लिए तरह-तरह के प्रपंच रच रहे हैं। ओली में अब इतनी भी हिम्मत नहीं बची है कि वो अपने घर पर अपनी ही पार्टी की बैठक से गायब हो जाते हैं। ओली ने अपनी बैठक में उठ रहे सवालों का जवाब देने के बजाए एक सार्वजनिक समारोह में भारत को लक्षित करते हुए आरोप लगाया कि उनकी सरकार गिराए जाने की साजिश रची जारही है। जबकि सच्चाई यह है कि ओली और प्रचण्ड के बीच प्रधानमंत्री पद की अदला-बदली पर समझौता हुआ था। निर्धारित समय बीत जाने के बाद भी ओली ने प्रधानमंत्री ओली ने पद नहीं छोड़ा है। इसी बात को लेकर पार्टी में घमासान मचा हुआ है। प्रचण्ड ने चेतावनी दी है कि यदि ओली प्रधानमंत्री पद नहीं छोड़ेंगे तो वो पार्टी के दो फाड़ कर सरकार गिरा देंगे।
नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की कुर्सी पर खतरे के बादल लगातार बढ़ते जा रहे हैं। सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी में मचे घमासान और देश में सरकार के खिलाफ जारी गुस्से से ध्यान भटकाने के लिए पीएम ओली अब उग्र राष्ट्रवाद का प्रयोग कर रहे हैं। उन्होंने अपनी पार्टी में मचे घमासान को लेकर भारत पर इशारों-इशारों में आरोप लगाते हुए कहा कि एक दूतावास मेरी सरकार के खिलाफ होटल में साजिश रच रहा है।
प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने कहा कि भले ही उन्हें पद से हटाने का खेल शुरू हो लेकिन यह असंभव है। प्रधानमंत्री ओली ने दावा किया था कि काठमांडू के एक होटल में उन्हें हटाने के लिए बैठकें की जा रही है और इसमें एक दूतावास भी सक्रिय है।

ओली ने दावा किया कि भारतीय जमीन को नेपाली नक्शे में दिखाने वाले संविधान संशोधन के बाद से उनके खिलाफ साजिशें रची जा रही हैं। मुझे पद से हटाने के लिए खुली दौड़ हो रही है। ओली ने कहा कि नेपाल की राष्ट्रीयता कमजोर नहीं है। किसी ने सोचा नहीं था कि नक्शे को छापने के लिए किसी प्रधानमंत्री को पद से हटा दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की पार्टी अब टूट के कगार पर पहुंच गई है। नेपाल की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यकारी चेयरमैन पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ ने पीएम ओली की आलोचना के बाद उनसे अब इस्तीफे की मांग की है। प्रचंड ने ओली को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर पीएम ने इस्तीफा नहीं दिया तो वह पार्टी को तोड़ देंगे।

प्रचंड ने खुलासा किया कि पीएम ओली खुद की कुर्सी बचाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि ओली प्रधानमंत्री की कुर्सी के लिए नेपाली सेना का सहारा ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमने सुना है कि पीएम ओली सत्ता में बने रहने के लिए पाकिस्तानी, अफगानी या बांग्लादेशी मॉडल को अपनाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन इस तरह के प्रयास नेपाल में सफल नहीं होंगे।

प्रचंड ने ओली को चेतावनी देते हुए कहा कि कोई भी हमें भ्रष्टाचार के नाम पर जेल नहीं भेज सकता है। सेना की मदद से देश पर शासन करना आसान नहीं है। प्रचंड ने ओली पर निशाना साधते हुए कहा कि विपक्ष के साथ गठबंधन करके या पार्टी को विभाजित कर सरकार चलाना संभव नहीं है।

कम्युनिस्ट पार्टी के स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में ज्यादातर सदस्यों ने पीएम ओली से इस्तीफे की मांग की है। वहीं ओली ने इस्तीफा देने से साफ इनकार कर दिया है।

About dhamaka