Breaking News
Home » National » नीति आयोग ने जारी किया राज्यों का हेल्थ इंडेक्स, केरल नंबर वन,उत्तर प्रदेश सबसे निचले 21वें स्थान पर

नीति आयोग ने जारी किया राज्यों का हेल्थ इंडेक्स, केरल नंबर वन,उत्तर प्रदेश सबसे निचले 21वें स्थान पर

स्वास्थ्य और चिकित्सा सेवाओं के मोर्चे पर पिछड़े बिहार, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और ओडिशा एक नई तुलनात्मक रिपोर्ट में फिर से पिछड़े साबित हुए हैं। इसके विपरीत हरियाणा, राजस्थान और झारखंड में हालात उल्लेखनीय रूप से सुधरा है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय और विश्वबैंक के तकनीकी सहयोग से तैयार नीति आयोग की ‘स्वस्थ्य राज्य प्रगतिशील भारत’ शीर्षक से जारी रिपोर्ट में राज्यों की रैंकिंग से यह बात सामने आई है। यह रैंकिंग 23 संकेतकों के आधार पर तैयार की गई है। इन संकेतकों को स्वास्थ्य परिणाम (नवजात मृत्यु दर, प्रजनन दर, जन्म के समय स्त्री-पुरूष अनुपात आदि), संचालन व्यवस्था और सूचना (अधिकारियों की नियुक्ति अवधि आदि) तथा प्रमुख इनपुट/प्रक्रियाओं (नर्सों के खाली पड़े पद, जन्म पंजीकरण का स्तर आदि) में बांटा गया है।

केरल नंबर वन, यूपी सबसे नीचे

रिपोर्ट के अनुसार केंद्रशासित प्रदेशों में दादर एंड नागर हवेली तथा चंडीगढ़ में स्थिति पहले से बेहतर हुई है। सूची में लक्षद्वीप सबसे नीचे तथा दिल्ली पांचवें स्थान पर है। संदर्भ वर्ष की संपूर्ण रैंकिंग में उत्तर प्रदेश सबसे निचले 21वें स्थान पर है। उसके बाद बीसवें पर बिहार, 19वें पर ओडिशा, 18वें पर मध्य प्रदेश और 18वें पर उत्तराखंड का स्थान है। वहीं शीर्ष पर केरल है। उसके बाद दूसरे स्थान पर आंध्र प्रदेश, तीसरे पर महाराष्ट्र और चौथे स्थान पर गुजरात है।

About dhamaka