Breaking News
Home » Main News » द्विपक्षीय बैठक :भारत-अमेरिका सैन्य संधि पर मंगलवार को होंगे हस्ताक्षर, दोनों देशो के मंत्रियों जताई सहमति

द्विपक्षीय बैठक :भारत-अमेरिका सैन्य संधि पर मंगलवार को होंगे हस्ताक्षर, दोनों देशो के मंत्रियों जताई सहमति

Spread News with other

भारत आये अमेरिकी रक्षा सचिव मार्क एस्पर और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बीच सोमवार को साउथ ब्लॉक में हुई द्विपक्षीय बैठक में दोनों मंत्रियों ने बेसिक एक्सचेंज एंड कोऑपरेशन एग्रीमेंट (बीईसीए) पर हस्ताक्षर किए जाने पर सहमति जताई। भारत-अमेरिका सैन्य संधि पर मंगलवार को हस्ताक्षर किए जाने हैं।

भारत और अमेरिका की योजना 3 नवम्बर के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों से पहले भू-स्थानिक सहयोग के लिए एक महत्वपूर्ण समझौते, बुनियादी विनिमय और सहयोग समझौते (बीईसीए) पर हस्ताक्षर करने की है। यह समझौता दोनों देशों को सैन्य जानकारी साझा करने और अपनी रक्षा साझेदारी को मजबूत करने में सक्षम होगा। मंगलवार को तीसरी ‘टू प्लस टू’ वार्ता के दौरान इस समझौते पर हस्ताक्षर किए जाने की संभावना है, जिस पर आज अमेरिकी रक्षा सचिव मार्क एस्पर और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने साउथ ब्लॉक में हुई द्विपक्षीय बैठक में सहमति जताई।

दोनों देशों के रक्षा मंत्रियों के बीच करीब एक घंटे तक चली बैठक में दोनों मंत्रियों ने सैन्य सहयोग, सुरक्षा संचार प्रणाली और सूचना साझाकरण, रक्षा व्यापार और औद्योगिक मुद्दों पर सैन्य सहयोग के साथ द्विपक्षीय रक्षा सहयोग की समीक्षा की और द्विपक्षीय सहयोग को आगे बढ़ाने के तरीकों पर भी चर्चा की। दोनों मंत्रियों ने संबंधित सशस्त्र बलों के बीच घनिष्ठ संबंधों पर संतोष व्यक्त किया। बैठक में सभी स्तरों, विशेषकर सैन्य सहयोग समूह में महामारी के दौरान मौजूदा रक्षा संवाद तंत्र को जारी रखने का आह्वान किया। दोनों देशों ने संपर्क अधिकारियों की तैनाती के विस्तार की आवश्यकताओं पर भी चर्चा की।

बैठक के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हमारी बातचीत आज फलदायी रही, जिसका उद्देश्य क्षेत्रों की एक विस्तृत श्रृंखला में रक्षा सहयोग को और गहरा करना है। आज की चर्चाओं के बाद भारत-अमेरिका के रक्षा संबंधों और आपसी सहयोग में नया जोश आएगा। बाद में रक्षा मंत्रालय ने आधिकारिक बयान जारी करके बताया कि यह समझौता भारत और अमेरिका को भू-स्थानिक जानकारी साझा करने, बलों की अंतर-क्षमता को सक्षम करने और सशस्त्र ड्रोन प्राप्त करने के लिए भारत के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है।

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और रक्षा सचिव मार्क एस्पर तीसरी ‘टू प्लस टू’ वार्ता के लिए सोमवार को नई दिल्ली पहुंचे। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और रक्षा सचिव मार्क एस्पर मंगलवार सुबह 10 बजे अपने-अपने प्रतिनिधिमंडल के साथ दिल्ली के हैदराबाद हाउस में ‘टू प्लस टू’ वार्ता में शामिल होंगे। इस वार्ता में भारत की ओर से रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर अपने-अपने मंत्रालय से जुड़े प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे। इसके बाद दोपहर एक बजे दोनों अमेरिकी नेताओं का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से उनके आवास पर मुलाकात करने का कार्यक्रम है।
सोमवार को अमेरिकी रक्षा सचिव मार्क एस्पर के साउथ ब्लॉक पहुंचने पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रेड कार्पेट पर उनका गर्मजोशी से स्वागत किया। तीनों सेनाओं की ओर से गार्ड ऑफ़ ऑनर देने की प्रक्रिया पूरी की गई, जिसके बाद द्विपक्षीय बैठक शुरू हुई। बैठक में सैन्य बलों के प्रमुख (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत, भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे, वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया, नौसेना प्रमुख एडमिरल कर्मबीर सिंह, रक्षा सचिव डॉ. अजय कुमार, डीआरडीओ के चेयरमैन डॉ. जी सतीश रेड्डी और भारत में अमेरिकी राजदूत केनेथ जोस्टर मौजूद रहे।

About dhamaka