Breaking News
Home » Entertainment » दीपिका पादुकोण ने मैडम तुसाद में #StatueOfPurpose का किया अनावरण

दीपिका पादुकोण ने मैडम तुसाद में #StatueOfPurpose का किया अनावरण

बॉलीवुड की डिम्पल गर्ल दीपिका पादुकोण इस समय मैडम तुसाद में अपनी प्रतिष्ठित प्रतिमा का अनावरण करने के लिए लंदन में हैं। मैडम तुसाद में पेश की गई इस प्रतिमा को दीपिका पादुकोण ने अपने फाउंडेशन को समर्पित किया है क्योंकि उनका मानना ​​है कि जिस तरह वह अपने फाउंडेशन के लिए खड़ी रहती है, ठीक उसी तरह उनकी यह प्रतिमा भी इस फाउंडेशन के समर्थन में भागीदार होगी।

Image result for दीपिका पादुकोण ने मैडम तुसाद में #StatueOfPurpose का किया अनावरण

जैसे ही अभिनेत्री ने इंस्टाग्राम लाइव के जरिये अपने वैक्स स्टेचू का अनावरण किया, इंटरनेट पर हलचल पैदा हो गयी परिणामस्वरूप भारत में हैशटैग #StatueOfPurpose मजबूती से ट्रेंड करते हुए नजर आया। दुनिया भर से अभिनेत्री के प्रशंसक अपनी उत्सुकता कंट्रोल नहीं कर पाए और वैश्विक स्टार पर अपने प्यार की बौछार करते हुए नज़र आ रहे है।

Related image

बॉलीवुड दिवा ने मानसिक स्वास्थ्य के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करते हुए अक्सर मानसिक बीमारी के खिलाफ लड़ाई लड़ी है और विभिन्न मानसिक रोगों पर लगे कलंक से छुटकारा पाने के लिए प्रयास करते आई है। आगे आकर, सार्वजनिक रूप से अपने डिप्रेशन के बारे में बात करते हुए, अभिनेत्री युवा और वृद्ध लोगों के लिए एक प्रेरणा साबित हुई है, जो सामाजिक दबाव के कारण बोलने से बचते हैं।

Related image

दीपिका ने न केवल विभिन्न सार्वजनिक मंचों पर अपनी राय और विश्वास को आवाज़ दी है बल्कि हर कदम पर मानसिक स्वास्थ्य को दर्शाने के लिए ‘लाइव लाफ लव’ नामक एक फाउंडेशन भी चला रही है। दीपिका पादुकोण ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा, “एक छोटी लड़की के रूप में, मैं बहुत जिज्ञासु बच्चा थी, मेरे लिए, उद्देश्य कुछ ऐसा है जो बहुत महत्वपूर्ण है। हालांकि, बड़े हो या छोटे, मैं अपने जीवन में जो कुछ भी कर रही हूं, उसका उद्देश्य और हम जो करते हैं, वह मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

मैडम तुसाद से मुझे फोन आने के बाद, मैंने सोचा कि इसका उद्देश्य क्या है, हम ऐसा क्यों कर रहे हैं, या ऐसा क्या है कि मेरे प्रशंसक मुझे याद रखेंगे, मेरा स्टेचू क्यों याद रखेंगे, ऐसा क्या है जो मैं पीछे छोड़ना चाहूँगी और मानसिक स्वास्थ्य का मुद्दा मेरे दिल के बहुत करीब है, यह कुछ ऐसा है जिसके बारे में मैं बेहद भावुक हूं।

About dhamaka