Breaking News
Home » Main News » जल्द घुटने टेकेगा कोरोना, ठीक होने वाले लोगों की संख्या में बढ़त: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

जल्द घुटने टेकेगा कोरोना, ठीक होने वाले लोगों की संख्या में बढ़त: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

संक्रमित होने वालों की संख्या से ठीक होने वाले मरीज की संख्या में बढ़ोत्तरी
• 590 ट्रेनों से 7 लाख 60 हजार से अधिक लोगों की हुई वापसी
•पल्स ऑक्सीमीटर का प्रयोग करने का सीएम ने दिया निर्देश
• प्रदेश के सभी प्रमुख मार्गों पर सघन पेट्रोलिंग करेगी पुलिस
• प्रदेश में 1763 एक्टिव केस, 2636 लोग हुए ठीक
18 मई,लखनऊ:मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश वासियों की सतर्कता और धैर्य के कारण ही कोरोना ने घुटने टेकना शुरू कर दिया है। सभी की जागरूकता का नतीजा है कि प्रदेश में संक्रमित होने से अधिक कोरोना से मुक्त होकर घर जाने वाले लोगों की संख्या अधिक हो रही है। सोमवार को प्रदेश में केवल 1763 एक्टिव केस रहे जबकि उपचारित होकर घर जाने वाले लोगों की संख्या 2636 हो गई। सीएम येागी ने कहा कि संक्रमण कम हो और लोग अधिक संख्या में स्वस्थ्य होकर घर जा सकें, इसके लिए आने वाले समय में हमें और अधिक जागरूक, धैर्य और साहस का परिचय देना होगा। यह जानकारी सोमवार को लोकभवन में कोरोना वायरस के संबंध में किए गई प्रेस कांफ्रेंस में अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी और प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने पत्रकारों को दी।
अपर मुख्य सचिव गृह ने कहा कि सोमवार को टीम 11 के साथ समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लॉकडाउन की समीक्षा करते हुए सख्त हिदायत दी कि प्रवासी लोगों की हर संभव सहायता करने व उनका साथ देने के लिए प्रदेश सरकार सदैव तत्पर है। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि पैदल, दोपहिया और ट्रक पर बैठकर यात्रा ना करें। यह कहीं से सुरक्षित नहीं है। धैर्य रखें, सभी जरूरतमंदों तक हम पहुंच रहे हैं।
अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि सीएम योगी ने निर्देश दिया कि जनपद स्तर पर पल्स ऑक्सीमीटर का प्रयोग सुनिश्चित हो इसकी तत्काल व्यवस्था की जाए। पल्स ऑक्सीमीटर से किसी भी व्यक्ति के शरीर में ऑक्सीजन की मौजूदा स्थिति की जानकारी ली जा सकती है। जिसके आधार पर कोरोना संक्रमण के प्राथमिक स्तर पर जानकारी मिलने में भी आसानी होगी। सीएम योगी ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए पल्स ऑक्सीमीटर को आशा वर्कर, एएनएम व फील्ड कर्मचारियों को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।
अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि राष्ट्रीय राज्यमार्ग, राज्यमार्गों पर स्थित टोलप्लाजा पर प्रवासी कामगारों के लिए भोजन व पेयजल की निशुल्क व्यवस्था हो। सीएम योगी ने यह भी निर्देश दिया है कि प्रदेश के सीमा से आने वाले लोगों का सम्मानजनक स्वागत हो इसके लिए उन्हें पानी की एक बोतल जरूर दी जाए। इसके बाद उनकी स्क्रिनिंग कराकर जनपद तक पहुंचने में हर संभव सहायता की जाए। इतना ही नहीं सीएम योगी ने यह भी निर्देश दिया है कि प्रदेश के सभी नेशनल हाईवे, स्टेट हाईवे, चौराहे व मार्गों की सघन पेट्रोलिंग की जाए। विशेष कर रात में पुलिस को पेट्रोलिंग बढ़ाने का निर्देश दिया है।
अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर उत्तर प्रदेश के लिए लगातार श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अबतक गुजरात से 275, महाराष्ट्र से 140, पंजाब से 101, राजस्थान से 17, दिल्ली से 6, तेलंगाना से 7, कर्नाटक से 20, आंध्रप्रदेश से 2, मध्यप्रदेश से 2 ट्रेन सहित कुल 590 ट्रेनों से 7 लाख 60 हजार से अधिक श्रमिकों व कामगारों की वापसी हुई है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब 48 स्टेशनों को इन ट्रेनों के आगमन के लिए सुनिश्चित कर लिया गया है।
अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि अबतक वापसी करने वालों की संख्या काफी अधिक हो गई है। जिसके कारण स्वास्थ्य विभाग ने भी कोरोना संक्रमण के लिए सैंपल टेस्ट करने की अपनी क्षमता का विस्तार कर लिया है। वर्तमान में 6 से अधिक सैंपलों का टेस्ट प्रतिदिन हो रहा है। जिसे बढ़ाकर 10 हजार करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके अलावा बड़े पैमाने पर बेड्स की उपलब्धता पर कार्य किया जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से प्रदेश में 1 लाख बेड्स की कार्ययोजना तैयार कर शीघ्र ही इसके क्रियान्वयन का निर्देश दिया है।
*प्रदेश में अबतक 1763 केस, 2636 हुए ठीक: प्रमुख सचिव स्वास्थ्य*
प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि प्रदेश में 11 मई से ही प्रदेश में एक्टिव केस कम है और ठीक होने वाले मरीजों की संख्या अधिक होने का क्रम जारी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अबतक 4511 केस सामने आए हैं। वर्ममान में  1763 एक्टिव केस हैं। उपचार के बाद  4511 में से 2636 पेशेंट पूरी तरह स्वस्थ हो गए हैं और उन्हें घर भेज दिया गया है। हालांकि अबतक 112 लोगों की मौत भी हुई है। उन्होंने बताया कि रविवार को 6247 सैंपलों की टेस्टिंग की गई। उन्होंने बताया कि रविवार को 512 पूल टेस्ट किए गए। जिनमें से 46 पूल पॉजिटीव मिले। अबतक आइसोलेशन में 1978 लोगों को और क्वारंटीन में 10601 लोगों को रखा गया है।
प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के सर्विलांस में 79 हजार 825 टीम लगी रहीं। इन टीमों ने 65 लाख 5 हजार 876 घरों का सर्वेक्षण किया। साथ ही 3 करोड़ 23 लाख 9 हजार 498 लोगों की जांच भी किया। उन्होंने बताया कि प्रदेश में काफी संख्या में प्रवासी कामगार व श्रमिकों की वापसी हुई है। सभी को होम क्वारंटीन में 21 दिनों तक रहने के लिए कहा गया है। होम क्वारंटीन में रहने वालों की जांच के लिए आशा वर्करों को भी तैनात किया गया है। उन्होंने बताया कि आशा वर्करों द्वारा अबतक 4 लाख 11 हजार  770 लोगों की जांच की गई है। जांच के दौरान 466 लोगों के अंदर सर्दी, जुखाम, बुखार आदि का लक्षण पाया गया। ऐसे लोगों की रिपोर्ट पर स्वास्थ्य विभाग कार्रवाई कर रहा है।
प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि आरोग्य सेतू एप से स्वास्थ्य विभाग के कंट्रोल रूम द्वारा 17 हजार 447 फोन कॉल किए गए। इनमें से 109 लोगों को क्वारंटीन किया गया और 18 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। जिनमें से 4 उपचारित होकर घर चले गए हैं।

About dhamaka