Breaking News
Home » International » चीन में मुस्लिमो को रोजा रखने से रोकने के लिए अपनाए जा रहे नए नए हथकंडे

चीन में मुस्लिमो को रोजा रखने से रोकने के लिए अपनाए जा रहे नए नए हथकंडे

बीजींग | चीन के शिनजियांग प्रांत में एक बड़ी आबादी मुस्लिमो की है. उइगर समुदाय के ये लोग चीन के उत्पीडन से खासे परेशान रहते है। चीन , मुस्लिमो को किसी भी हाल में उनके धार्मिक कर्तव्यों का निर्वहन करने से रोकने में लगा हुआ है. चूँकि अब रमजान का पाक महीना चल रहा है इसलिए चीन ने ऐसे ऐसे हथकंडे अपनाने शुरू कर दिए है जिससे की मुस्लिम किसी भी सूरत में रोजे न रख पाए।चीन के शिनजियांग प्रांत में मुसलमानों की पहचान खत्‍म की की जा रही है। वहां रहने वालों मुसलमानों के खिलाफ कड़े से कड़े प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं। रमजान की शुरुआत होते ही मुस्लिम बहुल शिनजियांग प्रांत में सरकारी अधिकारियों, छात्रों और बच्‍चों के रोजे रखने पर प्रतिबंध लगा दिया है। चीन की सरकारी वेबसाइट पर इस बारे में निर्देश जारी किया गया।

शिनजियांग प्रांत में चीन की कम्‍युनिस्‍ट पार्टी के कैडर इस प्रतिबंध को लागू करने में जुटे हैं। यहां तक कि चीन का सबसे प्रमुख दोस्‍त पाकिस्‍तान भी इस मुद्दे पर कुछ कहने के लिए तैयार नहीं है। जबकि कुछ समय पहले व्‍यापारिक समझौते के लिए पाकिस्‍तान के पीएम इमरान खान ने चीन की यात्रा की थी।

चीन का दावा है कि शिनजियांग ओइगर ऑटोनॉमस रीजन (एक्‍सयूएआर) में सामाजिक स्थिरता बरकरार रखने के लिए ऐसा कर रहे हैं। हयूमन राइट्स वाच (एचआरडब्‍लू) की इसी हफ्ते जारी की गई रिपोर्ट में इस बारे में दावा किया गया है। संयुक्त राष्ट्र की नस्ली भेदभाव उन्मूलन समिति ने उइगर मुस्लिमों के साथ किए जा रहे इस व्यवहार पर गंभीर चिंता व्यक्त की है।

चीन का दावा है कि शिनजियांग ओइगर ऑटोनॉमस रीजन (एक्‍सयूएआर) में सामाजिक स्थिरता बरकरार रखने के लिए ऐसा कर रहे हैं। हयूमन राइट्स वाच (एचआरडब्‍लू) की इसी हफ्ते जारी की गई रिपोर्ट में इस बारे में दावा किया गया है। संयुक्त राष्ट्र की नस्ली भेदभाव उन्मूलन समिति ने उइगर मुस्लिमों के साथ किए जा रहे इस व्यवहार पर गंभीर चिंता व्यक्त की है।

About dhamaka