Breaking News
Home » International » चीन में कोरोना वायरस से 17 लोगों की मौत, भारत में अभी नहीं है कोई मरीज़

चीन में कोरोना वायरस से 17 लोगों की मौत, भारत में अभी नहीं है कोई मरीज़

नई दिल्ली: चीन में सार्स जैसे नए वायरस की चपेट में आने से अब तक 17 लोगों की मौत हो गई है और देश में इसके करीब 571 मामले सामने आ चुके हैं.

चीन के हुबेई प्रांत के वुहान शहर में कोरोना वायरस से जुड़े सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं. 1.15 करोड़ की आबादी वाला वुहान एक प्रमुख परिवहन केंद्र है. खूबसूरत पार्कों और झीलों के लिए मशहूर यह शहर रातोंरात संकट से घिर गया है.

इसके संक्रमण के कारण बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं.

इसके सामान्य प्रभावों के चलते सर्दी-जुकाम होता है, लेकिन ‘सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम’ (सार्स) से इसका जुड़ाव खतरनाक है, क्योंकि 2002-03 में चीन और हांगकांग में इसके प्रकोप से करीब 650 लोगों की मौत हो गई थी.

इसके कहर को देखते हुए चीन के वुहान में विमान सेवाओं सहित सभी सार्वजनिक परिवहन सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं. वहीं, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा विएना में बुधवार को हुई आपातकालीन बैठक गुरुवार को भी होगी.

इसमें इस संक्रमण को अंतरराष्ट्रीय चिंता वाली जन स्वास्थ्य आपदा घोषित करने पर विचार किया जा रहा है, जैसा कि स्वाइन फ्लू और इबोला के समय किया था.

डब्ल्यूएचओ के प्रमुख टेड्रोस एडनॉम गेबेरियस ने कहा कि चीन इसे रोकने के लिए बेहद बड़े कदम उठा रहा है ताकि इस वायरस को दुनियाभर में फैलने से रोका जा सके.

चीन के वुहान में सभी सार्वजनिक परिवहन सेवाओं पर रोक लगाने की घोषणा करने के बाद उनका यह बयान आया है.

चीनी नव वर्ष की वार्षिक छुट्टियों (जो 24 जनवरी से शुरू हो रही हैं) के लिए बड़ी संख्या में लोगों के चीन पहुंचने का अनुमान हैं. ज्यादातर लोग यहां से होकर अपने गंतव्य तक पहुंचेंगे.

शहर के अधिकारियों के अनुसार, कोरोना वायरस के बढ़ते कहर के मद्देनजर वुहान में 23 जनवरी सुबह 10 बजे से ट्रेन स्टेशनों तथा हवाई अड्डों से यात्रा और बस तथा सबवे सेवाओं को निलंबित कर दिया है.

About dhamaka