Breaking News
Home » Fashion » घर पर हेयर कलर बनाने की होम रेसिपीज़

घर पर हेयर कलर बनाने की होम रेसिपीज़

Image result for घर पर हेयर कलर बनाने की होम रेसिपीज़

बालों की ख़ूबसूरती तब तक ही बनी रहती है, जब तक उनकी तुलना काली घटाओं से होती है. जहां कहीं इनमें समय से पहले स़फेदी झलकने लगी, इनकी सुंदरता भी कम होने लगती है. हालांकि आजकल बहुत से हेयर कलर्स व ऑप्शन्स हैं, जिनसे आप बालों की स़फेदी छिपा सकती हैं, लेकिन उन्हें अपनाने से पहले ये होम रेसिपीज़ आज़माएं और फिर देखें कमाल अपने महकते गेसुओं का.

Image result for घर पर हेयर कलर बनाने की होम रेसिपीज़

1) ब्लैक टी सोल्यूशन
सामग्री: दो टीस्पून काली चाय की पत्ती और एक कप पानी.
विधि: चाय की पत्ती को पानी में उबाल लें और कुछ देर तक उसी पानी में उसे भीगने दें. घोल को ठंडा होने दें और इस मिश्रण को धुले हुए बालों में अप्लाई करें. आधे घंटे बाद या जब यह सूख जाए, तो सादे पानी से बाल धो लें.
यह कैसे काम करता है?
ब्लैक टी में कैफीन होता है, जो एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है. यह सोल्यूशन बालों को शाइन भी देता है और ग्रे हेयर कवर करके बालों को नुक़सान नहीं पहुंचाता, बल्कि उन्हें मज़बूत करता है.
2) आंवला और मेहंदी पैक
सामग्री: तीन टीस्पून आंवला पाउडर, एक कप मेहंदी पेस्ट और एक टीस्पून कॉफी पाउडर.
विधि: सारी सामग्री को मिक्स कर लें और यदि पेस्ट गाढ़ा लगे, तो पानी मिला लें. इस पेस्ट को बालों में लगा लें और ध्यान रखें कि सारे ग्रे हेयर कवर हो रहे हों. एक घंटे बाद माइल्ड शैंपू से बाल धो लें.
यह कैसे काम करता है?
आंवला और मेहंदी दोनों ही बालों को पोषण पहुंचाते हैं और मॉइश्‍चराइज़ भी करते हैं. इन दोनों का मिश्रण बालों के लिए नेचुरल कलर या डाई का काम करता है.
3) आंवला और मेथी मास्क
सामग्री: आंवला पाउडर और साबुत मेथी.
विधि: मेथी को पीसकर उसमें आंवला पाउडर मिला लें. थोड़ा पानी मिलाकर गाढ़ा पेस्ट तैयार कर लें. इसे स्काल्प व बालों पर रातभर लगा रहने दें और अगली सुबह माइल्ड शैंपू से धो लें.
यह कैसे काम करता है?
आंवला विटामिन सी के गुणों से भरपूर होता है और सदियों से आयुर्वेद में इसका इस्तेमाल बालों की समस्याओं के निदान में होता आया है. इसी तरह से मेथी भी कई पोषक तत्वों से भरपूर है. इन दोनों का मिश्रण न स़िर्फ बालों को नेचुरल कलर देता है, बल्कि बालों को पोषण भी पहुंचाता है.
4) प्याज़ का रस
सामग्री: दो-तीन टीस्पून प्याज़ का रस, एक टीस्पून नींबू का रस और एक टीस्पून ऑलिव ऑयल.
विधि: तीनों को मिक्स करके स्काल्प और बालों में मसाज करें. आधे घंटे बाद बाल धो लें.
यह कैसे काम करता है?
बालों को ब्लैक करने का यह बेहतरीन तरीक़ा है. यह कैटालेज़ एंज़ाइम को बढ़ाता है, जिससे बाल डार्क होते हैं. नींबू के रस के साथ यह बालों को बाउंस और शाइन भी देता है.

6) बादाम तेल और नींबू का रस
सामग्री: बादाम का तेल और नींबू का रस.
विधि: तीन भाग नींबू के रस में दो भाग बादाम का तेल मिलाकर स्काल्प व बालों में मसाज करें. आधे घंटे बाद धो लें.
यह कैसे काम करता है?
आल्मंड ऑयल विटामिन ई का अच्छा स्रोत है, जो बालों के लिए काफ़ी अच्छा माना जाता है. यह जड़ों को पोषण देकर बालों को स़फेद होने से बचाता है. इसी तरह नींबू भी विटामिन सी व कई अन्य तत्वों से भरपूर होता है, जो बालों को शाइन व बाउंस देता है.
7) नारियल तेल और नींबू का रस
सामग्री: दो टेबलस्पून नारियल तेल और एक टेबलस्पून नींबू का रस.
विधि: दोनों को मिलाकर स्काल्प व बालों की मसाज करें और आधे घंटे बाद माइल्ड शैंपू से धो लें.
यह कैसे काम करता है?
यह स़फेद बालों को भले ही काला न करता हो, लेकिन यह बालों की स़फेद होने की प्रक्रिया को धीमा कर देता है, क्योंकि यह हेयर फॉलिकल्स में पिग्मेंट सेल्स को बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.
8) कालीमिर्च और दही
सामग्री: आधा टीस्पून कालीमिर्च पाउडर और एक कप दही.
विधि: दोनों सामग्री को तब तक ब्लेंड करें, जब तक कि पेस्ट में ग्र्रे कलर न आ जाए. इससे स्काल्प और बालों को मसाज करें. एक घंटे बाद माइल्ड शैंपू से बाल धो लें.
यह कैसे काम करता है?
इसके लगातार प्रयोग से बालों का कलर डार्क होता है और दही बालों को मॉइश्‍चराइज़ भी करता है.

5) करीपत्ता और नारियल तेल
सामग्री: एक कप करीपत्ता और एक कप तेल.
विधि: दोनों को तब तक उबालें, जब तक कि पत्तियां काली न हो जाएं. इसे ठंडा करके छान लें और बोतल में भरकर रख लें. हफ़्ते में दो-तीन बार रात को बालों में इससे मसाज करें और सुबह बाल धो लें.
यह कैसे काम करता है?
करीपत्ता विटामिन बी से भरपूर होता है, जो हेयर फॉलिकल्स में मेलामाइन पिग्मेंट को रीस्टोर करता है, जिससे बाल स़फेद होने से बचते हैं. यह बीटा केराटिन का भी अच्छा स्रोत है, जिससे बालों का झड़ना कम होता है.
9) शिकाकाई पाउडर
सामग्री: शिकाकाई पाउडर और दही.
विधि: दोनों को मिलाकर पेस्ट बना लें. स्काल्प व बालों में मसाज करें और आधे घंटे बाद धो लें.
यह कैसे काम करता है?
शिकाकाई शैंपू के तौर पर भी काम करता है और ग्रे हेयर की समस्या को भी कम करता है. सदियों से आयुर्वेद में बालों की देखभाल के लिए इसका ज़िक्र देखा गया है. यह स्काल्प को क्लीन और हेल्दी भी रखता है.
10) आलू के छिलके
सामग्री: छह आलू के छिलके और दो कप पानी.
विधि: छिलकों को तब तक उबालें, जब तक कि गाढ़ा स्टार्च जैसा घोल न बन जाए. ठंडा होने पर छान लें और इसे फाइनल रिंस के लिए रखें. बालों को पहले धो लें, फिर इस घोल को बालों पर डालें और उसके बाद पानी न डालें.
यह कैसे काम करता है?
दरअसल यह घोल आपके स़फेद बालों को छिपाता है. यह स्टार्ची सोल्यूशन उनके पिग्मेंटेशन को गहरा दिखाकर ग्रे हेयर कवर कर लेता है और यह सबसे आसान तरीक़ा
भी है.

About dhamaka