Breaking News
Home » States » गुरू नानकदेव जी का 550वां प्रकाश पर्व धूमधाम से अखिलेश यादव ने सैफई में मनाया

गुरू नानकदेव जी का 550वां प्रकाश पर्व धूमधाम से अखिलेश यादव ने सैफई में मनाया

दिनांकः 13.11.2019
12 नवम्बर 2019 की तारीख पर दो आध्यात्मिक संयोग जुड़ रहे थे। इस दिन गुरू नानकदेव जी का 550वां प्रकाश पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा था तो दूसरी ओर कार्तिक पूर्णिमा पर स्नान ध्यान की परम्परा निभाई जा रही थी। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सैफई अपने गृह स्थान जाने का कार्यक्रम बनाया। रास्ता जाना पहचाना लखनऊ से आगरा तक पहुंचाने वाला एक्सप्रेस-वे था। किन्तु मन यह देखकर खिन्न था कि समाजवादी सरकार में एक्सप्रेस-वे के दोनों तरफ किसानों के उत्पादों के लिए मंडियों की जो व्यवस्था थी वे उजड़ी पड़ी हैं।
कार्तिक पूर्णिमा का पर्व हो या कोई अन्य सभी मूलतः प्रकृति से जुड़े हैं। इन दिनों इटावा-फर्रूखाबाद क्षेत्र में आलू की फसल है लेकिन इसका किसान परेशान है। उम्मीद थी कि फसलों की कीमत उत्पादन की लागत से डेढ़ गुना होगी परन्तु यहां तो उत्पादन लागत भी नहीं मिलती है।
अखिलेश आयुर्विज्ञान संस्थान एवं विश्वविद्यालय, सैफई में चाचा अभयराम सिंह की देखने गए जो पिछले कुछ समय से अस्वस्थ चल रहे हैं। उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की। इस संस्थान के निकट ही 120 फुट ऊँचा राष्ट्रीय ध्वज स्थापित किया जायेगा। आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय में 5 हजार ओपीड़ी की व्यवस्था है। श्री यादव ने कहा कि चिकित्सा की सुविधा मिलना महत्वपूर्ण है। यह मसला मानवीय संवेदना से भी जुड़ा है। सैफई और लखनऊ में अंतर्राष्ट्रीय स्तर का स्पोर्ट्स स्टेडियम भी समाजवादी सरकार की देन है। लाॅयन सफारी अभी शुरू नहीं हुआ है।
छिबरामऊ में अखिलेश यादव का जोरदार स्वागत हुआ। कार्यकर्ताओं ने जिंदाबाद के नारों से वातावरण गुंजा दिया। यहां उन्होंने पुराने समाजवादी प्रतापसिंह यादव से मुलाकात की। गुरूसिंह सभा, गुरूद्वारा छिबरामऊ, में ज्ञानी अरूण सिंह, सरदार जसविंदर सिंह ने उनका स्वागत किया। श्री अखिलेश यादव ने गुरू सिंह सभा के गुरूद्वारा में गुरू नानकदेव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर गुरूग्रंथ साहब के सामने जाकर माथा टेका। उन्होंने इस प्रकाश पर्व पर सम्पूर्ण विश्व में उनके ज्ञानबोध की ज्योति प्रज्जलित रखने वाले अनुयायियों को शुभकामनाएं एवं बधाई दी।
यहां अखिलेश यादव को कसावा माडलपुर के एक नौजवान गोपाल सक्सेना ने बताया कि उनके बड़े भाई को समाजवादी सरकार के समय लैपटाॅप मिला था। यह नौजवान कक्षा 9 का छात्र है और उसका गांव छिबरामऊ ताल ग्राम के रास्ते में पड़ता है। उसके साथ दूसरे नौजवान साथी भी थे सबने कहा कि सन् 2022 में जरूर समाजवादी पार्टी की ही सरकार बनेगी। सब चाहते है कि अखिलेश फिर मुख्यमंत्री बने।
एक टूरिस्ट गाइड श्रीलंकाई नौजवान धनंजय तिवांकर ने कहा कि वह भारत भर में घूमता रहता है लेकिन यहां सिर्फ यही आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे सड़क है जो शानदार और अंतर्राष्ट्रीय स्तर की है। उसने अखिलेश जी के पास आकर बधाई दी।
इस यात्रा कार्यक्रम के दौरान एक्सप्रेस-वे पर वे साइड जनसुविधा केन्द्र में आये हुए दर्जनों लोगों नेअखिलेश यादव से भेंट की। वहीं श्रीलंका के पर्यटकों ने मिलकर फोटों भी खिचवाये, इन्हीं श्रीलंका के गाइड श्री धनंजय तिवांकर ने समाजवादी सरकार के समय हुए विकासकार्यों की प्रशंसा भी की।
छिबरामऊ से होकर एक सड़क संकिशा के लिए जाती है जिस स्थान का सम्बंध गौतम बुद्ध की माता जी से है। वहां बौद्ध विहार एवं बुद्ध पूजा, प्रवचन स्थल है। संकिशा में पवन पावन दलाईलामा जी भी आते रहते हैं। तीन वर्ष पहले अखिलेश यादव ने अपने मुख्यमंत्रित्वकाल में उनसे भेंट कर आशीर्वाद लिया था।

About dhamaka