Breaking News
Home » Health & Fitness » कोरोना वायरस के संपर्क मिलते अलर्ट करेगा ये मास्क

कोरोना वायरस के संपर्क मिलते अलर्ट करेगा ये मास्क

भारत में कोरोना पीड़ितों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है. अभी तक इस वायरस की दवा या वैक्सीन भी नहीं मिल पाई है. लेकिन‌ ऐसे में एक मास्क वरदान साबित हो सकता है. रिसर्चर्स की एक टीम एडवांस मास्क बनाने में जुटी है. ये कोई आम मास्क नहीं होगा, बल्कि ये होगा एंटीवायरल मास्क जो वायरस को वहीं खत्म कर देगा.

क्यों जरूरी है मास्क

फेस मास्क संक्रमण को रोकने में उपयोगी है. मास्क जहां संक्रमित व्यक्ति से वायरस को हवा में फैलने से रोकता है, तो वहीं मास्क का इस्तेमाल उन लोगों को संक्रमित होने से बचा सकता है जो

फेस मास्क संक्रमण को रोकने में उपयोगी है. मास्क जहां संक्रमित व्यक्ति से वायरस को हवा में फैलने से रोकता है, तो वहीं मास्क का इस्तेमाल उन लोगों को संक्रमित होने से बचा सकता है जो अभी तक संक्रमित नहीं है. लेकिन मास्क का इस्तेमाल करते वक्त सावधानी बरतनी पड़ती है. क्योंकि मास्क खुद भी इंफेक्शन फैलने की वजह बन सकता है

अभी तक संक्रमित नहीं है. लेकिन मास्क का इस्तेमाल करते वक्त सावधानी बरतनी पड़ती है. क्योंकि मास्क खुद भी इंफेक्शन फैलने की वजह बन सकता है. इसलिए वैज्ञानिक एक एंटी वायरल मास्क बनाकर ये समस्या सुलझाने की कोशिश में जुटे हैं.

शोधकर्ताओं की एक टीम इस एंटी वायरल मास्क को बनाने में जुटी है जो कोरोना वायरस के संपर्क में आते ही उसे मार सकता है. रिसर्चर्स की ये टीम ऐसा फेस मास्क बना रही है जो वायरस को पकड़ेगा और उसे निष्क्रिय भी करेगा.

ऐसे मरेगा कोरोना वायरस

शोधकर्ता 6 महीने यह मास्क तैयार कर सकते हैं… मास्क में एक प्रोटियोलिटिक एंजाइम की एक खास परत लगाई जाएगी जो कोरोना वायरस के स्पाइक प्रोटीन से जुड़ जाएगी और उसे अलग कर वायरस को खत्म कर देगी. इसमें सांस लेने में कोई परेशानी नहीं होगी और इस पर वायरस आते ही इसकी सतह का रंग बदल जाएगा.

मास्क बनने के बाद भी कई चुनौतियां

एंटीवायरल मास्क बनने के बाद शोधकर्ताओं के सामने कई चुनौतियां भी खड़ी होंगी.

About dhamaka