Breaking News
Home » Main News » कश्मीर के बालाकोट आतंकी शिविर फिर से हुआ सक्रिय, 500 घुसपैठिए घुसने की फिराक में : जनरल रावत

कश्मीर के बालाकोट आतंकी शिविर फिर से हुआ सक्रिय, 500 घुसपैठिए घुसने की फिराक में : जनरल रावत

कश्मीर में अनुच्छेद-370 (Article 370) हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान (Pakisthan) के साथ चल रही तनातनी के बीच अब थलसेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत (Army Chief Bipin Rawat) ने बड़ा बयान दिया है। बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने सोमवार को कहा कि पाकिस्तान ने हाल ही में बालाकोट आतंकवादी अड्डे को फिर सक्रिय कर दिया है और करीब 500 घुसपैठिए भारत में घुसने की फिराक में हैं। आर्मी चीफ रावत ने कहा है कि भारतीय सेना बालाकोट को दोबारा रिपीट क्यों करेगी, उससे आगे की भी सोच सकते हैं। उन्होंने कहा कि सीमा के पास लगातार आतंकी बढ़ रहे हैं। बालाकोट में एक बार फिर आतंकी सक्रिय हो चुके हैं।

आर्मी चीफ रावत ने कहा कि पाकिस्तान आतंकियों की घुसपैठ करने की लगातार कोशिश करता रहता है। अनुच्छेद-370 हटाने के बाद पाकिस्तान ने खुलकर बोल दिया है कि वो आतंकियों को भारत भेजेंगे। इसलिए घुसपैठ कराने के लिए वो सीजफायर उल्लंघन करते हैं। हमारा ध्यान भटकाने के लिए सीजफायर उल्लंघन होता है।

उन्होंने कहा कि बालाकोट में दोबारा आतंकियों की हलचल शुरू हो चुकी है। पाकिस्तान ने एक बार फिर यहां आतंकियों के ठिकाने बना दिए हैं। इंडियन एयरफोर्स की स्ट्राइक के बाद यहां पूरे इलाके को खाली कराया गया था, लेकिन फिर से आतंकी सक्रिय हो चुके हैं।

बिपिन रावत ने कश्मीर में पाबंदियों की खबरों पर कहा कि कश्मीर में किसी भी तरह की कोई पाबंदियां नहीं लगाई गई हैं। कश्मीर के लोग घरों से बाहर निकल रहे हैं। सेब बाहर भेजे जा रहे हैं। लोग बोल रहे हैं कि दुकाने बंद हैं। लेकिन दुकाने पीछे की तरफ से खोली जा रही हैं। लोग आज भी वहां खाना खा रहे हैं, लोग भूखे नहीं मर रहे। जो भी ये कह रहा है कि कश्मीर में पाबंदियां हैं वो बिल्कुल गलत है।

आम लोगों पर कोई भी संचार की पाबंदी नहीं…
कश्मीर में आम लोगों पर कोई भी संचार की पाबंदी नहीं लगाई गई हैं। सुरक्षाबलों ने उन लोगों के लिए अलग से व्यवस्था की है, जो अपनों से बात करना चाहते हैं। लेकिन आतंकियों के हैंडलर और आतंकियों को एक दूसरे से संपर्क करने में परेशानी हो रही है।

सीमा पार से 500 आतंकी घुसपैठ की तैयार में…
आर्मी चीफ ने बताया कि पाकिस्तान की तरफ से लगातार घुसपैठ की कोशिश तेज है। उन्होंने कहा, ‘हमें हमेशा अलर्ट रहना पड़ता है। हम ये भी जानते हैं कि पाकिस्तान की तरफ से लगातार आतंकी भेजे जा रहे हैं। जम्मू-कश्मीर में हिंसा की कोशिश हो रही है। हमें अपने बॉर्डर को सुरक्षित रखने के लिए तकनीक का भी इस्तेमाल करना होगा। हमने कई घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम किया है। अनुमान है कि करीब 500 आतंकी सीमा पार से घुसपैठ की तैयारी में हैं।

आर्मी चीफ रावत ने कहा, ‘मुझे लगता है कि इस्लाम को जिस तरह से समझाया जा रहा है, वो गलत है। कोई भी धर्म गलत नहीं होता। कुछ गलत मैसेज के वजह से लोग उनके बहकावे में आ जाते हैं। मुझे लगता है कि हमें ऐसे धर्म विचारक चाहिए जो इस्लाम के सही मायने लोगों को समझाए’।

About dhamaka