Breaking News
Home » Main News » कपिल का भाषण शर्मनाक:प्रियंका

कपिल का भाषण शर्मनाक:प्रियंका

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने केंद्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी के नेता कपिल मिश्रा पर बुधवार को जमकरआड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा भाजपा नेता कपिल मिश्रा के बयान को शर्मनाक करार देते हुए कहा कि दिल्ली में जारी हिंसा को रोकने के लिए सरकार का कुछ नहीं करना और भी अधिक शर्मनाक है। दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से बुधवार को आयोजित संवाददाता सम्मेलन के बाद प्रियंका गांधी ने पत्रकारों से बात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने जो कहा है वह शर्मनाक है लेकिन सरकार का इस पर कुछ नहीं करना और भी अधिक शर्मनाक है। कांग्रेस पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी ने दिल्ली के लोगों से हिंसा से दूर रहने की अपील करते हुए कहा कि हिंसा से सिर्फ आप लोगों को पीड़ा होगी और सिर्फ आप लोगों का नुकसान होगा। गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के सामने भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने कथित तौर पर कहा था कि अगर तीन दिन के अंदर सड़कों को संशोधित नागरिकता विरोधी प्रदर्शनकारियों से खाली नहीं कराया गया तो वह और उनके समर्थक सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर हो जाएंगे। एक सवाल के जवाब में प्रियंका गांधी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में हमने अपने कार्यकर्ताओं को कहा है कि इस तरह की घटना होने पर वे शांति और अमन बनाएं। प्रियंका गांधी से पहले दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भाजपा सरकार और आम आदमी पार्टी पर निशाना साधा। उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि दिल्ली हिंसा एक सोचा-समझा षडयंत्र है। यह हमने दिल्ली चुनाव के दौरान भी देखा था। केंद्रीय नेतृत्व और दिल्ली सरकार पर सीधा हमला बोलते हुए सोनिया गांधी ने पांच सवाल भी पूछे हैं। उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह से दिल्ली हिंसा पर देरी से कार्रवाई करने को लेकर इस्तीफा मांगा है। दिल्ली सरकार भी जिम्मेदार सोनिया गांधी ने यह दावा भी किया कि दिल्ली सरकार भी अपनी भूमिका निभाने में विफल रही। कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि दिल्ली सरकार और मुख्यमंत्री भी शांति बनाए रखने में नाकाम रहे। पिछले रविवार से गृहमंत्री अमित शाह कहां थे और उन्होंने क्या कदम उठाए? दिल्ली के सीएम केजरीवाल क्या कर रहे थे? दंगे वाले इलाके में कितनी फोर्स भेजी गई? पैरामिलिट्री फोर्स बुलाने में इतनी देर क्यों हुई? दिल्ली चुनाव के बाद खुफिया विभाग के पास क्या इनपुट थे? आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा भाजपा नेता कपिल मिश्रा के बयान को शर्मनाक करार देते हुए कहा कि दिल्ली में जारी हिंसा को रोकने के लिए सरकार का कुछ नहीं करना और भी अधिक शर्मनाक है। विज्ञापन दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से बुधवार को आयोजित संवाददाता सम्मेलन के बाद प्रियंका गांधी ने पत्रकारों से बात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने जो कहा है वह शर्मनाक है लेकिन सरकार का इस पर कुछ नहीं करना और भी अधिक शर्मनाक है। कांग्रेस पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी ने दिल्ली के लोगों से हिंसा से दूर रहने की अपील करते हुए कहा कि हिंसा से सिर्फ आप लोगों को पीड़ा होगी और सिर्फ आप लोगों का नुकसान होगा।

About dhamaka