Breaking News
Home » Main News » कंगना के साथ हिमाचल सरकार, मुंबई में दफ्तर तोड़ना निंदनीय:CM जयराम ठाकुर

कंगना के साथ हिमाचल सरकार, मुंबई में दफ्तर तोड़ना निंदनीय:CM जयराम ठाकुर

Spread News with other

शिमला। बालीवुड अभिनेत्री और हिमाचली अदाकारा कंगना रनौत की सुरक्षा का मुद्दा बुधवार को विधानसभा में छाया रहा।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल सरकार कंगना के साथ है। कंगना हिमाचली हैं और उन्होंने बालीवुड में हिमाचल का नाम रोशन किया है। वह हिमाचल की गौरव हैं। उनके पिता ने लिखा था- जिस पर वाई प्लस सिक्योरिटी राज्य सरकार व केन्द्र सरकार ने मुहैया करवाई है। उनका यहां पर टेस्ट भी किया गया जिन्हें मुम्बई जाना था। अब सूचना मिली है कि मुम्बई में उनका दफ्तर तोड़ दिया गया है, जोक निंदनीय है। हिमाचल सरकार कंगना के साथ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह उम्मीद करते हैं कि महाराष्ट सरकार इस मामले का समाधान निकालेगी।

उधर विपक्ष के नेता मुकेश ने कहा कि हम भी कंगना की सुरक्षा चाहते हैं और इसपर जो हो सकेगा करेंगे। इससे पहले भोजनवाकाश के बाद विधायक होशियार सिंह ने मामला उठाया कि मुम्बई में कंगना के कार्यालय को बीएमसी ने तोड़ दिया है। ऐसे में उनकी सुरक्षा को खतरा है। प्रदेश सरकार व केन्द्र सरकार ने सुरक्षा मुहैया करवाई है लेकिन महाराष्ट्र की सरकार को इस मामले पर आग्रह किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि मामला कोर्ट में है, जहां से फैसला आने से पहले ही बीएमसी ने अपनी कार्रवाई कर दी और कार्यालय को तोड़ दिया, जो निंदनीय है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में कांग्रेस की गठबंधन सरकार है, इसलिए कांग्रेस को भी बात करनी चाहिए। वहां विधानसभा में कंगना के खिलाफ प्रीवलेज मोशन भी लाया गया है।

विधायक राम लाल ठाकुर ने इसे कानूनी मसला बताया और कहा कि मामले पर यहां चर्चा नहीं हो सकती है, जिस पर सीएम ने कहा कि हमारा मकसद उनकी सुरक्षा से जुड़ा है न कि अदालत के मामले में हस्तक्षेप करने से। विधायक कर्नल इन्द्र सिंह ने भी चिंता जताई और गोबिंद सिंह ठाकुर ने इसे गंभीर मामला बताया।

About dhamaka