Breaking News
Home » States » एकल अभियान साबित करता है कि सेवा किसी सौदे का माध्यम नहीं हैं : योगी आदित्यनाथ

एकल अभियान साबित करता है कि सेवा किसी सौदे का माध्यम नहीं हैं : योगी आदित्यनाथ

  •    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एकल अभियान द्वारा आयोजित परिवर्तन कुंभ के उद्घाटन समारोह को किया संबोधित
       •      पिछले 5 सालों में दी गई सुविधाओं की गति अगर 1947 से यही होती तो आज के समय कोई व्यक्ति शासन की सुविधाओं से वंचित नहीं होता
       •      सरकार द्वारा शासन स्तर पर उत्तर प्रदेश की बेहतरी के लिए वृहद कार्यक्रम चलाए जा रहे है
17 फरवरी, लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ‘एकल अभियान’ इस बात को साबित करता है कि हमारे यहां सेवा किसी सौदे का माध्यम नहीं है बल्कि यह हमारे संस्कारों के माध्यम से सनातन परम्परा से प्राप्त हमारे अंतःकरण के अनुभावों को विश्व के सामने लाने के कार्यक्रम की श्रृंखला का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि श्रद्धेय अशोक सिंघल ने जिस एकल अभियान का बीजारोपण किया था आज वह एकल अभियान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भावनाओं के अनुरूप एक लाख की संख्या पार कर सेवा के क्षेत्र में शिक्षा के प्रसार में निस्वार्थ भाव से कार्य कर रहा है।
ये बातें मुख्यमंत्री ने लखनऊ में एकल अभियान द्वारा आयोजित परिवर्तन कुंभ के उद्घाटन समारोह के दौरान कहीं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक के प्रचारक जब लाखों की संख्या में देश के कोने-कोने में जाकर मातृभूमि के प्रति अपना सबकुछ समर्पित कर सेवा के किसी प्रकल्प को चुनते हैं उस समय उनके मन में स्वयं और अपने परिवार से ऊपर उठकर मातृभूमि की सेवा के लिए कुछ करने की भावना होती है। यही भावना ऐसे अभियानों को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाती है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने 26 मई, 2014 को एक बात कही थी कि अब देश की योजनाओं का लाभ किसी व्यक्ति, परिवार, जाति, भाषा को देखकर नहीं बल्कि इस देश के गांव, गरीब, दलित के लिए, महिलाओं के लिए और समाज के प्रत्येक तबके के लिए हम लेकर जाएंगे। आज यही हो रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले पांच सालों में दी गई सुविधाओं की गति अगर 1947 से होती तो आज के समय ऐसा कोई व्यक्ति नहीं होता जो शासन की सुविधाओं से वंचित होता। साढ़े 5 वर्ष में 2.5 करोड़ गरीबों को आवास, 4 करोड़ गरीब परिवारों को निःशुल्क बिजली कनेक्शन, 8 करोड़ गरीब परिवारों को निःशुल्क गैस कनेक्शन, 10.5 करोड़ गरीब परिवारों को शौचालय, 12.5 करोड़ गरीब किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के माध्यम से 6 हजार रुपए प्रतिवर्ष उपलब्ध करवाना, 15 करोड़ नौजवानों को आर्थिक स्वावलम्बन, 46 करोड़ गरीब परिवारों को बैंकिंग सुविधाओं से जोड़ना, 50 करोड़ गरीब परिवारों को 5 लाख रुपए तक की निःशुल्क स्वास्थ्य बीमा की सुविधा प्रधानमंत्री मोदी ने उपलब्ध करवाई है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद के 70 वर्षों में प्रदेश के अंदर कुल 12 मेडिकल कॉलेज बने थे जबकि पिछले तीन वर्षों के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार 28 नए मेडिकल कॉलेज बना रही है। यह परिवर्तन है।  शासन स्तर पर उत्तर प्रदेश की बेहतरी के लिए वृहद कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। ‘स्कूल चलो अभियान’ उत्तर प्रदेश का एक वृहद अभियान है। पिछले तीन वर्षों में हमने उत्तर प्रदेश में 50 लाख नए बच्चों को स्कूल भेजने का कार्य किया है। आज बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में 1 करोड़ 80 लाख बच्चे पढ़ रहे हैं।  बेसिक शिक्षा परिषद के बच्चों का पाठ्यक्रम एनसीईआरटी की तर्ज पर हम लोगों ने आगे बढ़ाया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने व्यवस्था की कि कोई भी शिक्षक प्रॉक्सी टीचर नहीं रखेगा। जिस शिक्षक की नियुक्ति की गई है उनकी फोटो भी विद्यालयों में लगाई गई है ताकि बच्चे भी पहचान जाएं कि उनका शिक्षक कौन है ? विद्यालय में शिक्षकों की उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए हमने एक लाख 58 हजार स्कूलों को ‘प्रेरणा ऐप’ से जोड़ा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि  श्री राम की जन्मभूमि अयोध्या में भगवान राम के मंदिर के निर्माण का काम प्रशस्त हो रहा है। सारी बाधाएं दूर हो चुकी हैं। अब यह कार्य युद्ध स्तर पर होगा। भगवान् श्रीराम के मंदिर का निर्माण देश की आस्था के साथ-साथ इस देश के वनवासी जीवन को मान्यता देने का काम भी है। आज से हजारों वर्ष पहले देश के वनवासी समाज को मान्यता देने का कार्य भगवान् श्रीराम ने किया था। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी ने वनवासी क्षेत्र के लिए जनजातीय मंत्रालय के गठन के साथ ही उन क्षेत्रों के विकास को नई गति दी। इसके साथ ही ट्राइबल म्यूज़ियम की स्थापना करना उनके लिए शासन की विभिन्न योजनाओं को आगे बढ़ाने के लिए कार्यक्रम चल रहे हैं।

About dhamaka