Breaking News
Home » Main News » आरोग्य मेला आयोजित होने वाले क्षेत्र में कराया जाये व्यापक प्रचार-प्रसार: राजेन्द्र कुमार तिवारी

आरोग्य मेला आयोजित होने वाले क्षेत्र में कराया जाये व्यापक प्रचार-प्रसार: राजेन्द्र कुमार तिवारी

लखनऊ: 31 दिसम्बर, 2019

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने प्रदेश के समस्त नागरिकों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाये रखने तथा स्वास्थ्य सुविधाओं को उनके समीप पहुंचाने के लिये समस्त प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में आगामी 02 फरवरी से अनवरत प्रत्येक रविवार को आरोग्य स्वास्थ्य मेला आयोजित किये जाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने मेले के आयोजन हेतु चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग को नोडल विभाग नामित करते हुये निर्देश दिये कि यह मेला चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, चिकित्सा शिक्षा, बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग एवं आयुष विभाग द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया जाये। उन्होंने कहा कि मेले के क्रियाकलापों के अनुश्रवण एवं रिपोर्टिंग का दायित्व चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग का होगा। उन्होंने कहा कि मेले में किसी न किसी मा0 मंत्री, मा0 सांसद, मा0 विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष/सदस्यगण, नगर निकायों के अध्यक्ष/सदस्यगण एवं ब्लाक पंचायत के प्रमुख/सदस्यगण को भी अनिवार्य रूप से आमंत्रित किया जाये।
मुख्य सचिव ने यह निर्देश समस्त मण्डलायुक्तों, जिलाधिकारियों, मण्डलीय अपर निदेशक (चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण), मुख्य चिकित्सा अधिकारियों, प्रमुख/मुख्य चिकित्सा अधीक्षकों/अधीक्षिकाओं (जिला पुरुष/महिला/संयुक्त चिकित्सालय) को परिपत्र निर्गत कर दिये। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला का आयोजन जनपदों में जिलाधिकारियों के नेतृत्व में किया जायेगा। उन्होंने जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि वह विभिन्न विभागों से समन्वय स्थापित कर कार्ययोजना विकसित कर मेले का सफलतापूर्वक आयोजन सुनिश्चित करायें। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जनपद के मुख्य चिकित्साधिकारी जनपद में स्थित मेडिकल काॅलेज एवं आयुष विभाग से समन्वय स्थापित कर प्रत्येक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में प्रत्येक रविवार को आरोग्य स्वास्थ्य मेला आयोजन करने के लिये वर्ष 2020 हेतु एक माइक्रोप्लान विकसित कर जिलाधिकारी सेे इस माइक्रोप्लान को अनुमोदित कराते हुये 31 मार्च, 2020 तक माइक्रोप्लान आगामी 10 जनवरी, 2020 तक निदेशक, स्वास्थ्य द्वारा चिकित्सा एवं स्वास्थ्य महानिदेशालय को उपलब्ध कराया जाये।
राजेन्द्र कुमार तिवारी ने चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण को प्रत्येक कैम्प में उपस्थित स्टाफ, उपचारित मरीजों आदि के विवरण को प्रदर्शित करने के लिये डैशबोर्ड स्थापित करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कैम्प समाप्ति के पश्चात कैम्प प्रभारी मुख्य चिकित्साधिकारी के माध्यम से संकलित सूचना डैशबोर्ड पर शासन को उपलब्ध करायें। उन्होंने कहा कि आरोग्य मेला आयोजित होने वाले क्षेत्र में इसका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये तथा मेला तिथि से पूर्व पड़ने वाले ग्राम स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण समिति की बैठक/ग्राम स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण समिति की बैठक/ग्राम स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण दिवस में भी इस मेले के विषय में जानकारी दी जाये। उन्होंने कहा कि जनपदों को आवंटित मेडिकल मोबाइल यूनिट और राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (आर0बी0एस0के0) की मोबाइल सचल इकाइयों को भी उपयोग में लाया जाये तथा उन्हें मेला दिवस पर मेला स्थल पर ही रखा जाये।
मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले में ओ0पी0डी0 सेवायें, टी0बी0 मलेरिया, डेंगू, दिमागी बुखार, कालाजार, फाइलेरिया एवं कुष्ठ रोग सम्बन्धी जानकारी एवं आवश्यक जांच एवं उपचार की सुविधायें उपलब्ध करायी जायें। इसके अलावा उच्च रक्तचाप, मधुमेह, मुख, स्तन एवं सर्वाइकल कैंसर की स्क्रीनिंग एवं यथोचित स्तर पर संदर्भन एवं फालो-अप, प्रधानमंत्री जन आरोग्य एवं मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान की जानकारी तथा पात्र लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड वितरण, गर्भावस्थ एवं प्रसवकालीन परामर्श तथा सेवायें, संस्थागत प्रसव सम्बन्धी जागरूकता, जन्म पंजीकरण परामर्श तथा सेवायें प्राप्त करायी जायें। इसके साथ ही परिवार नियोजन सम्बन्धी परामर्श एवं सुविधायें, बच्चों में डायरिया एवं न्यूमोनिया के रोकथाम, बचाव एवं उपचार की जानकारी एवं सुविधायें, तम्बाकू सेवन को रोकने के लिये जागरूकता, तम्बाकू छोड़ने में सहायता के उपायों के बारें में जानकारी दी जाये। इसके अतिरिक्त समस्त आधारभूत जांच सुविधायें एवं जिन जांचों को इस स्तर पर करना संभव नहीं है उन जांचों हेतु उच्चस्तरीय इकाइयों में संदर्भन, पोषण अभियान का प्रचार-प्रसार तथा कुपोषित बच्चों के चिन्हीकरण एवं उनके उपचार हेतु समुचित कार्यवाही की जाये। मेले का आयोजन प्रातः 10 बजे से अपराह्न 02 बजे तक कराया जाये।

About dhamaka