Breaking News
Home » States » अयोध्या में भगवान श्रीराम की 251 मीटर ऊंची प्रतिमा की स्थापना रेलवे ब्रिज के पास की जाएगी:मुख्यमंत्री योगी

अयोध्या में भगवान श्रीराम की 251 मीटर ऊंची प्रतिमा की स्थापना रेलवे ब्रिज के पास की जाएगी:मुख्यमंत्री योगी

लखनऊ: 03 अगस्त, 2019

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज अयोध्या में ब्रह्मलीन महन्त परमहंस रामचन्द्र दास जी की 16वीं पुण्यतिथि पर दिगम्बर अखाड़े में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित किया। उन्होंने श्री महन्त परमहंस रामचन्द्र दास जी के चित्र पर पुष्पांजलि भी अर्पित की। इस अवसर पर उन्होंने केन्द्रीय पर्यटन मंत्रालय की स्वदेश दर्शन स्कीम के तहत रामायण सर्किट में श्री महंत परमहंस रामचन्द्र दास की स्मृति में 2.75 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित 03 तल के बहुउद्देशीय हाॅल का लोकार्पण किया। उन्होंने कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप प्रज्ज्वलित कर किया।
मुख्यमंत्री जी ने पूज्य संत श्री परमहंस जी को नमन करते हुए कहा कि वे एक अद्वितीय संत थे। उन्होंने कहा कि पूज्य महन्त जी की स्मृति में निर्मित बहुद्देशीय हाॅल का लोकार्पण कर वे गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम जी ने अपना जीवन धैर्य व मर्यादा के साथ व्यतीत किया, वे पूरे विश्व के प्रेरणास्रोत हैं। पूज्य महन्त जी ने अपना सम्पूर्ण जीवन धर्म और भगवान श्रीराम को समर्पित किया। पूज्य सन्त परमहंस जी का जीवन युवाओं के लिए प्रेरणादायी है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि अयोध्या के आध्यात्मिक गौरव को बनाए रखना होगा। अयोध्या आस्था-श्रद्धा, पर्यटन का केन्द्र बनेगा और विकास की ऊंचाइयों को छुएगा। अयोध्या में पुरातात्विक तथा सांस्कृतिक म्युजियम बनाने के प्रस्ताव पर शासन विचार कर रहा है। इसको मूर्त रूप देने के लिए शीघ्र कार्य शुरू किया जाएगा। विगत 02 वर्षों से अयोध्या में ‘दीपोत्सव‘ मनाया जा रहा है, जिसके कारण अयोध्या का नाम पर्यटन के लिए विश्वपटल पर आ गया है। यहां सड़कों व घाटों का निर्माण किया जा रहा है। यहां की साफ-सफाई पर भी ध्यान दिया जा रहा है, जिससे लोगों का आवागमन बढ़ा है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में स्थापित होने वाली भगवान श्रीराम की 251 मीटर ऊंची प्रतिमा की स्थापना रेलवे ब्रिज तथा नेशनल हाइवे के बीच की जाएगी।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी का स्वागत दिगम्बर अखाड़े के प्रमुख श्री सुरेश दास जी महाराज द्वारा किया गया। श्री दास ने कहा कि मुख्यमंत्री जी पूज्य महन्त जी के बहुत करीब रहे। आज उन्होंने इस कार्यक्रम के लिए जो समय दिया है उसके प्रति हम कृतज्ञ है।
इस अवसर पर पूर्व केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानन्द ने अपने सम्बोधन में कहा कि परमहंस जी से हमारा 40 साल पुराना सम्बन्ध है। वे एक महान सन्त थे। कार्यक्रम को मणिराम छावनी एवं महन्त श्री नृत्य गोपालदास जी महाराज के उत्तराधिकारी श्री कमलनयन दास जी, जगत गुरू वासुदेवाचार्य, कन्हैयादास जी महाराज, जनमेजय जी महाराज आदि ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम के दौरान बड़ी संख्या में साधु-सन्त मौजूद थे।
कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री जी ने गुप्तारघाट के पास स्थित ग्राम मांझा जमथरा में सरयू नदी के तट पर घाट के निर्माण कार्यों का निरीक्षण भी किया। उन्होंने सभी कार्याें को समयबद्धता एवं गुणवत्ता के साथ पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जमथरा की सरकारी भूमि पर्यटन विभाग को योजनाओं के विकास के लिए दी जाएगी।
इस अवसर पर जनप्रतिनिधिगण, अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव पर्यटन जितेन्द्र कुमार, मण्डलायुक्त मनोज मिश्र, आई0जी0 संजीव गुप्ता, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी सहित शासन-प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

About dhamaka