Breaking News
Home » National » अमित शाह ने मंच से लगाए जय श्रीराम के नारे, बोले ‘जो चाहो उखाड़ लो’

अमित शाह ने मंच से लगाए जय श्रीराम के नारे, बोले ‘जो चाहो उखाड़ लो’

मेदिनीपुर
बंगाल की राजनीति में इन दिनों ‘जय श्रीराम’ की गूंज खूब सुनाई दे रही है। ‘जय श्रीराम’ पर प्रदेश की सीएम ममता बनर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच सियासी तकरार अभी थमा भी नहीं था कि बीजेपी चीफ अमित शाह भी इसमें कूद पड़े। मेदिनीपुर में अमित शाह ने इस मुद्दे पर ममता बनर्जी को आड़े हाथों लिया। शाह ने मंच से जय श्रीराम के नारे लगाए और बोले, जो बन पड़ता है उखाड़ लो।

बंगाल में अमित शाह की रैली की मुख्य बातें

ममता दीदी पूरे बंगाल में दुर्गा पूजा नहीं करने देती हैं, सरस्वती पूजा नहीं करने देती हैं, जय श्री राम नहीं बोलने देती, इन्होंने पूरे बंगाल को टोल टैक्स की गिरफ्त में रखा है.
भोपाल गैस काण्ड नहीं हुआ था क्या? शान्ति सेना का ब्लंडर हुआ था या नहीं? कश्मीरी पंडितों का नरसंहार हुआ था या नहीं? सच्चाई याद दिलाना अपमान है क्या?
राहुल बाबा कह रहे हैं कि उनके पिता जी का अपमान किया गया. कांग्रेस के नेता मोदी जी को अपशब्द कहते हैं, गाली देते हैं. पुराने प्रधानमंत्री का अपमान होता है तो कांग्रेसी बिलखने लगते हैं. अभी के पीएम का अपमान होता है तो आप कुछ नहीं कहते हो.
बंगाल में ममता दीदी ने लोकतंत्र का गला घोंट दिया है. पंचायत चुनाव में बीजेपी के 60 से ज्यादा कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी.
बंगाल की जनता को वोट नहीं देने दिया. लोकसभा के चुनाव में भी जनता को वोट नहीं देने देती है. ममता दीदी 23 मई के बाद आपके कुशासन के अंत होने वाला है.
बंगाल का विकास रुका पड़ा है. मोदी जी ने बंगाल के विकास के लिए 4 लाख 24 हजार करोड़ रुपया दिया. क्या ये पैसा आप तक पहुंचा ? आपके ये पैसे ममता दीदी के गुंडे खा गए.
एक दिन पहले ही पहले पीएम मोदी ने भी जय श्रीराम का मुद्दा उठाया था. पीएम ने कहा था कि फोनी चक्रवात के बाद केंद्र सरकार पूरी ताकत से बंगाल की जनता के साथ खड़ी है. उन्होंने खुद इसके लिए ममता दीदी को फोन किया था, लेकिन दीदी ने कॉल का जवाब नहीं दिया. दीदी जय श्रीराम कहने वालों को जेल भेज रही हैं.
बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि नागरिकता बिल पर सारे विपक्ष एक तरफ हो गए. घुसपैठिया देश को दीमक की तरह चाट रहे हैं. एक बार 23 लोकसभा सीटें पश्चिम बंगाल से मोदी की झोली में डाल दो, ममता दीदी को अपने आप मुक्ति मिल जाएगी.
बीजेपी की सरकार आने पर सबसे पहले नागरिकता संशोधन बिल लाया जाएगा. हम घुसपैठियों को ढूंढ-ढूंढकर पश्चिम बंगाल से बाहर करेंगे.
अमित शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल में ये चुनाव लोकतंत्र की बहाली और ममता दीदी की सत्ता से मुक्त करने के लिए लड़ा जा रहा है. बीजेपी की रैलियों को रोकने का प्रयास भले की कई कर लो, झूठ फैलाओ लेकिन हम ही जीतेंगे.

About dhamaka